सोनिया-राहुल को मिला ईडी का समन तो सीएम बघेल बोले- बदले की भावना से काम कर रही केंद्र सरकार


मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों का केंद्र सरकार दुरुपयोग कर रही है, लेकिन इससे कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है। दूसरी तरफ भाजपा ने सीएम बघेल के बयान पर कहा कि अगर सोनिया-राहुल ने कोई गड़बड़ी नहीं की तो ईडी को जवाब देने में डर क्यों लग रहा है।


देश गांव
छत्तीसगढ़ Published On :
bhupesh baghel cg cm

रायपुर। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को समन मिलने पर छत्तीसगढ़ में सियासत का पारा चढ़ गया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसे केंद्र सरकार द्वारा बदले की भावना से की गई कार्रवाई बताया है।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों का केंद्र सरकार दुरुपयोग कर रही है, लेकिन इससे कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है। दूसरी तरफ भाजपा ने सीएम बघेल के बयान पर कहा कि अगर सोनिया-राहुल ने कोई गड़बड़ी नहीं की तो ईडी को जवाब देने में डर क्यों लग रहा है।

ईडी द्वारा समन दिए जाने के बाद मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट किया कि झूठ जानता है कि वो सच को हरा नहीं सकता। कायर को भी पता है कि वह निडर को डरा नहीं सकता। सत्ता और संवैधानिक संस्थाओं को राजनीतिक बदले का हथियार बनाना कायरता ही है। पूरा देश सोनिया और राहुल गांधी के साथ खड़ा है। सत्य नहीं झुकेगा हैशटैग के साथ सीएम ने यह ट्वीट किया।

वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि भाजपा के डर की कोई सीमा नहीं है। वो जब-जब सत्य से डरती है, तब-तब ईडी को आगे करती है। लेकिन सभी को पता है कि सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं हो सकता। हम वो कांग्रेस पार्टी हैं, जिसने सत्य और अहिंसा के साथ अंग्रेजों को लोहा मनवा दिया था। कांग्रेस पार्टी हमेशा सत्य के साथ थी, है और आगे भी रहेगी।

प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेता व बघेल मंत्रिमंडल में शामिल मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव हैं, इसलिए केंद्र सरकार ईडी जैसे हथकंडे अपना रही है। अपनी असफलताओं से ध्यान भटकाने और जनता में भ्रम फैलाने के लिए इस बार ईडी को मैदान में उतारा गया है। इससे कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है।

भाजपा नेता व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस नेताओं के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस ईडी की कार्रवाई को लेकर खुद को पाक-साफ बता रही है। अगर कांग्रेस नेताओं ने कोई गड़बड़ी नहीं की है, तो उसे ईडी के सामने तथ्य रखने चाहिए। आखिर कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व ईडी से भाग क्यों रहा है। जो सवाल हैं, उनके जवाब तो देने ही होंगे।



Related