RBI ने हल कर दी इंदौर के राकेश की बड़ी परेशानी, जानिए कैसे


_ क्रेडिट कार्ड से कर सकेंगे यूपीआई पर पेमेंट
_ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने लिया बड़ा फैसला


देश गांव
काम की बात Updated On :

इंदौर। राजवाड़ा पर रहने वाले राकेश जैन का कारोबार इन दिनों मंदा है। उनके कई ऑर्डर का पैसा अगले कुछ दिनों के अंदर  आ जाएगा लेकिन इस बीच बिजली का बिल, दूध वाले का बिल जैसे तमाम ख़र्च उनका सिरदर्द बने हुए हैं।

इस बीच उनकी मुलाकात अपने दोस्त अमित से हुई जो पेशे से एक पत्रकार है। 11 जून की उमस भरी दोपहर को  चाय की टापरी पर अमित को अपनी ये कहानी सुनाते राकेश कुछ उदास थे। राकेश ने उनकी परेशानी समझी और मोबाइल पर एक ख़बर दिखाई। ख़बर थी कि अब क्रेडिट कार्ड के सहारे भी यूपीआई के पेमेंट किये जा सकेंगे और इससे अब बारकोड पर ही किसी को पैसे दे सकेंगे। राकेश के चेहरे पर मुस्कान आ गई क्योंकि उनके पास क्रेडिट कार्ड था लेकिन अब तक छोटे-छोटे बिलों का भुगतान वे इस तरह से नहीं कर पाते थे।

पिछले दिनों रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने यह निर्णय लिया है। इसका उद्देश्य डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना बताया जा रहा है। RBI ने अपनी जून की एमपीसी बैठक में इस पेमेंट सिस्टम को लेकर निर्णय लिया है।

रिज़र्व बैंक ने इस सुविधा की शुरुआत रुपे कार्ड के साथ करने का निर्णय लिया है। इसके बाद अन्य पेमेंट गेटवे इस्तेमाल करने वाले कार्ड भी इस सुविधा के तहत शामिल कर लिये जाएंगे।

इससे लोग यूपीआई के इस्तेमाल में अपने बचत खाते के साथ केंडिट यानी उधार खाते का इस्तेमाल भी कर सकेंगे। ज़ाहिर है ग्राहकों द्वारा बैंकों से उधार लेने पर उन्हें बेहतर व्यापार की उम्मीद रहेगी और इस बेहतर व्यापार से रिज़र्व बैंक को बेहतर वित्त व्यवस्था की आशा है।

यूपीआई के सहारे क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने के लिए पेमेंट प्लेटफार्म जैसे फोन पे, गूगल पे आदि के सेटिंग के विकल्प में देखें वहां क्रेडिट कार्ड जोड़ने का विकल्प दिया जा चुका है। यहां जाकर कार्ड की मांगी गई जानकारी खुद भरें और टर्म और कंडीशन को एक्सेप्ट करें।

(याद रखिये आपके कार्ड की यह जानकारी बेहद गोपनीय होनी चाहिए। पेमेंट गेटवे के नाम पर आने वाले फोन कॉल्स पर कभी भी अपनी जानकारी साझा न करें। यह जानकारी मांगने वाले फोन अक्सर झांसा देकर रुपये ऐंठने के लिए किये जाते हैं।) 

इसके बाद पेमेंट को शुरु करने के लिए एक्टिवेट करना होगा। आपके क्लिक करते ही वैरिफिकेशन प्रोसेस शुरु हो जाएगी और इसके बाद  बैंक में रजिस्टर्ड आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। ओटीपी को पेमेंट प्लेटफार्म पर साझा करके वैरिफाई करना होगा। इसके बाद से आप अपने क्रैडिट कार्ड का इस्तेमाल पेमेंट और ट्रांजैक्शन के लिए कर पाएंगे।

कहां है संशय! अक्सर कई दुकानदार क्रैडिट कार्ड लेने से कतराते हैं इसकी वजह कार्ड पर लगने वाला एमडीआर यानी मर्चेंट डिस्काउंट रेट नाम का एक कर कटता है। आम तौर पर यह कर करीब 2 प्रतिशत तक होता है। आरबीआई ने अपने निर्णय में यह अब तक साफ़ नहीं किया है कि यूपीआई पर क्रेडिट कार्ड द्वारा पेमेंट करने पर यह शुल्क लगेगा या नहीं।

हालांकि आरबीआई ने 1 जनवरी, 2020 को RuPay और UPI से किए ट्रांजैक्शन पर मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) को खत्म कर दिया था जिसके बाद देश भर के व्यापारियों ने UPI को अपनाया था।