वायुसेना ने जारी की अग्निवीरों की भर्ती की गाइडलाइन, जानिए क्या-क्या मिलेंगी सुविधाएं


जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार अग्निवीरों को अपनी चार साल की नौकरी पूरी करनी होगी। इससे पहले वह सेना नहीं छोड़ सकेंगे। ऐसा करने के लिए उन्हें अधिकारी की सहमति लेनी होगी।


देश गांव
काम की बात Updated On :
airforce recruitment of agniveers

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने अग्निवीरों की भर्ती से संबंधित गाइडलाइन जारी कर दी है। इसमें पात्रता, आयु सीमा, प्रशिक्षण, चिकित्सा मानक, वेतन, भत्ते और अन्य विवरणों के साथ संबद्ध लाभ शामिल हैं।

जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार अग्निवीरों को अपनी चार साल की नौकरी पूरी करनी होगी। इससे पहले वह सेना नहीं छोड़ सकेंगे। ऐसा करने के लिए उन्हें अधिकारी की सहमति लेनी होगी।

सभी सैन्य सम्मान और 30 दिन की छुट्‌टी दोनों मिलेंगे –

अग्निवीरों की भर्ती को लेकर सबसे बड़ा पेंच छुट्‌टी और अवार्ड का था। वायुसेना ने साफ किया है कि अग्निवीर सभी सैन्य सम्मान और पुरस्कार के हकदार होंगे। इन्हें साल में तीस दिन की छुट्‌टी भी दी जाएगी। इसके अलावा बीमार होने पर डॉक्टर की सलाह पर अलग से मेडिकल लीव भी मिलेगी।

भारतीय वायुसेना ने जारी की है सात पेज की गाइडलाइन –

युवाओं का गुस्सा शांत करने की कोशिश कर रही सरकार –

अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं के गुस्से को ठंडा करने के लिए गृह और रक्षा मंत्रालय ने आरक्षण देने का ऐलान किया है। शनिवार सुबह गृह मंत्रालय ने अग्निवीरों के लिए CAPFs (केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) और असम राइफल्स में भर्ती के लिए 10% आरक्षण देने का फैसला लिया। इन्हें आयु सीमा में भी 3 से 5 साल की राहत देने का ऐलान किया।

इसके बाद शाम को रक्षा मंत्रालय ने भी अग्निवीरों को अपने मंत्रालय में होने वाली भर्तियों में 10 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया है। रक्षा मंत्रालय के इंडियन कोस्ट गार्ड और डिफेंस सिविलियन पोस्ट के साथ डिफेंस पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग की 16 कंपनियों में भी नियुक्तियों में आरक्षण मिलेगा।