कांग्रेस MLA आरिफ मसूद ने राजगढ़ जेल में मुस्लिम युवकों की दाढ़ी काटने के मामले में गृहमंत्री को दिया ज्ञापन


राजगढ़ जिला जेल में मुस्लिम युवक की दाढ़ी काटने के मामले में भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने मंगलवार को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपा और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।


देश गांव
भोपाल Updated On :
arif masood memo to narottam mishra

भोपाल। जीरापुर के वार्ड 14 निवासी कलीम खान नामक मुस्लिम युवक ने राजगढ़ जिला जेल में उसकी दाढ़ी काटने का आरोप लगाया है।

उसका आरोप है कि 14 सितंबर को जेल में जेलर ने उसे पाकिस्तानी कहते हुए उनकी दाढ़ी कटवा दी थी। जेल से छूटने के बाद शुक्रवार को उसने समाजजनों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर इसकी शिकायत की थी।

अब इस मामले में भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने मंगलवार को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपा और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।

इससे पहले AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विटर पर टैग करते हुए ट्वीट किया था। इस मामले में असदुद्दीन ओवैसी ने मध्यप्रदेश सरकार को घेरते हुए कहा था कि दाढ़ी रखने से कोई पाकिस्तानी हो जाता है क्या? क्या सीएम शिवराज सिंह चौहान जेलर के खिलाफ कार्रवाई करेंगे या उसकी इस हरकत के लिए उसे इनाम देंगे?

बता दें कि मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में स्थित जेल में बंद रहे एक मुस्लिम कैदी ने वहां के जेलर पर उसकी दाढ़ी जबरन कटवाने का आरोप लगाते हुए जेलर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

मुस्लिम युवक ने दाढ़ी कटवाने को नबी की सुन्नत का अपमान करार देते हुए जिला कलेक्टर के पास अपनी शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि वह अब किसी को मुंह दिखाने के काबिल नहीं रह गया है।

13 सितंबर को जीरापुर के वार्ड 14 निवासी कलीम खान को धारा 151 के तहत राजगढ़ जेल में बंद किया गया था। कलीम का आरोप है कि अगले दिन सुबह जेलर निरीक्षण करने आए तो दाढ़ी देखकर भड़क गए और जबरदस्ती दाढ़ी कटवा दी।

कलीम ने यह भी आरोप लगाया है कि जेलर ने उसे पाकिस्तानी कहा और अभद्रता भी की। वह दाढ़ी नहीं काटने की विनती करता रहा लेकिन किसी ने भी उसकी एक नहीं सुनी। कलीम ने आरोपी जेलर को उचित दंड देने की मांग की है।

वहीं, इस मामले को लेकर आरोपी जेलर ने कहा है कि जेल में जब भी कोई नया कैदी आता है तो उसकी दाढ़ी या तो काटी जाती है या छोटी की जाती है। जो जिस धर्म का है वह अपने हिसाब से दाढ़ी रख सकता है। जेल में किसी की दाढ़ी जबरदस्ती दाढ़ी नहीं काटी गई।

जेलर ने कहा कि जो कुछ भी हुआ है, वह जेल के न‍ियमों के अनुसार हुआ है। इनकी दाढ़ी को जबरन नहीं काटा गया है। वे जानबूझकर अब इस मामले को मुद्दा बना रहे हैं।



Related