मैं प्रायोरिटी ग्रुप्स से पहले कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाउंगा, सीएम शिवराज की मैराथन बैठक


मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिले में सभी योजनाओं को लागू करने के लिए स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को उनके जिलों के लिए टारगेट भी दिये हैं। 


देश गांव
भोपाल Published On :

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लंबी बैठक कर रहे हैं। इस बैठक में आईजी, कमिशन्रर. कलेक्टर, एसपी और डीआईजी शामिल हैं।

प्रदेश में चल रही तमाम योजनाओं को लेकर बात हो रही है और इनमें सबसे ज्यादा ज़ोर गुडगर्वनेंस पर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि योजनाओं का लाभ बिना समय गंवाए जनता को मिलना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिले में सभी योजनाओं को लागू करने के लिए स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को उनके जिलों के लिए टारगेट भी दिये हैं।

मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया है कि कोरोना की वैक्सीन पहले प्रायोरिटी ग्रुप्स को लगेगी और बाद में दूसरों का नंबर आएगा। उन्होंने खुद कहा कि वे भी पहले वैक्सीन नहीं लगावाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कमिश्नर और कलेक्टर स्तर के अधिकारियों जिले में सभी योजनाओं के सार्थक क्रियान्वयन के लिए कहा है। उन्होंने सभी अधिकारियों को जिले के लिए एक सालाना योजना बनाने को कहा है। इस योजना के तहत सभी पहलुओं पर जिले की तरक्की पर नज़र रखनी होगी और इस सालाना योजना की समीक्षा मासिक तौर पर होगी।

मुख्मंत्री ने राजस्व बढ़ाने के काम पर विशेष ध्यान देने को कहा है। उन्होंने कहा कि चाहे जीएसटी हो या वानिकी कर का मामला हो, सभी की पूरी वसूली होनी चाहिए। मुख्यमंत्राी ने कहा कि पैसे की कमी का रोना हम नहीं रो सकते हैं क्योंकि पैसा लाना ज़रूरी है।  ऐसे में जिलों की ही भूमिका सबसे अहम होगी।

इससे पहले मुख्यमंत्री चौहान ने पुलिस अधिकारियों से जिलों में कानून व्यवस्था पर भी ध्यान देने को कहा है। उन्होंने भिंड, मंदसौर और बालाघाट आदि में आने वाली समस्याओं पर भी योजना बनाने के लिए कहा है। उन्होंने अफीम तस्करी, नक्सल समस्या, गुंडा समस्या आदि की समस्याओं को भी हल करने के लिए कहा है।

 

 

 



Related