मंत्रालय के तीन कर्मचारियों की संक्रमण से मौत, बड़े अधिकारियों की तरह चाह रहे वर्क फ्रॉम होम


मंत्रालय के बहुत से कर्मचारी संक्रमण की चपेट में हैं। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक के मुताबिक करीब साठ कर्मचारी इस समय संक्रमित होकर अस्पताल में भर्ती हुए हैं


देश गांव
भोपाल Published On :

भोपाल। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से लगातार मौतों की ख़बरें आ रहीं हैं। इस बीच कोरोना संक्रमण अब मंत्रालय तक भी पहुंच गया है। मंत्रालय में संक्रमण से तीन कर्मचारियों के निधन की खबर है। इनमें कार्यालय लेखा शाखा के प्रदीप बाथम,  लोकसेवा प्रबंधन विभाग की सहायक अनुभाग अधिकारी शीला पंजवानी और औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग के सहायक अनुभाग अधिकारी शेरू खान हैं।

मंत्रालय के बहुत से कर्मचारी संक्रमण की चपेट में हैं। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक के मुताबिक करीब साठ कर्मचारी इस समय संक्रमित होकर अस्पताल में भर्ती हुए हैं और बहुत से कर्मचारियों के परिजन इससे बीमार हैं।

संघ के मुताबिक संक्रमण के शुरु होने के बाद से अब तक कुछ स्कूल शिक्षा,वन, राजस्व, पीडब्ल्यूडी, पंचायत आदि विभागों में तो नब्बे प्रतिशत तक स्टाफ संक्रमित हुआ है। कर्मचारी संघ ने मंत्रालय सहित सभी राज्य स्तरीय कार्यालयों को  पंद्रह मई तक पूरी तरह बंद करने की मांग की है।

यह मांग भी की गई है कि कर्मचारियों के साथ साथ अधिकारियों और शीघ्रलेखक संवर्गों को भी आफिस आने से छूट प्रदान की जाए। ऐसे में अगर कोई अतिआवश्यक कार्य आता है तो उतने समय के लिए संबंधित अधिकारी कर्मचारी शीघ्रलेखक को बुलाया जा सकता है या उनसे घर पर ही उक्त कार्य करवाया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के बाद से ही  मंत्रालय में पदस्थ ज्यादातर बड़े अधिकारी घर से ही काम कर रहे हैं केवल कर्मचारियों को ही कार्यालय में बैठकर काम करना पड़ रहा है।

मध्यप्रदेश के बहुत से सरकारी कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। वहां बैंकों में करीब साढ़े तीन हज़ार अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित हैं और इनमें से 47 की मौत संक्रमण के चलते हुए है।



Related