श्योपुरः कोरोना संक्रमण बढ़ने के बावजूद भी सैनिटाइज नहीं किए जा रहे एटीएम कीबोर्ड


सरकार ने एटीएम को लेकर एडवाइजरी जारी की है कि बूथ में संक्रमण से बचाव के लिए लोगों की सुरक्षा के इंतजाम किए जाएं। इसके बाद भी जिम्मेदार बैंक प्रबंधक गंभीर नहीं हैं।


देश गांव
चम्बल Published On :
atm-keyboard

श्योपुर। श्योपुर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और यह 3845 हो गई है। इसके बाद भी जिले में चालू एटीएम बूथ को न तो सैनिटाइज किया जा रहा है और न ही उनमें आने वाले लोगों को सुरिक्षत रखने के लिए कोई सुरक्षा उपाय अपनाए जा रहे हैं।

जिम्मेदारों की ऐसी लापरवाही के कारण जिले में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है इसलिए एटीएम में कैश निकालते समय लोगों को सावधान रहने की जरूरत है और अपनी सुरक्षा के लिए सैनिटाइजर साथ लेकर जाना चाहिए क्योंकि एटीएम में बिना कीबोर्ड को टच किए आपको कैश नहीं मिलेगा।

बता दें कि सरकार ने एटीएम को लेकर एडवाइजरी जारी की है कि बूथ में संक्रमण से बचाव के लिए लोगों की सुरक्षा के इंतजाम किए जाएं। इसके बाद भी जिम्मेदार बैंक प्रबंधक गंभीर नहीं हैं।

शहर में विभिन्न बैंकों के तकरीबन 40 एटीएम संचालित हैं, जिनमें रुपये निकालने के लिए रोजाना हजारों लोग पहुंचते हैं। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की एडवाइजरी के मुताबिक, कोरोना वायरस प्लास्टिक पर 72 घंटे और स्टील पर 48 घंटे तक जिंदा रहता है।

एटीएम के गेट के हैंडल को ग्राहक पहले छूता है। फिर कैश निकालने के लिए स्टील व प्लास्टिक के बटनों को टच करता है। कैश निकालने के पहले व बाद में सैनेटाइजर जरूरी है। गाइडलाइन में एटीएम बूथ को सैनिटाइज करवाना व वहां पर सैनिटाइजर रखना जरूरी है।

शहर में शिवपुरी रोड स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के तीन, पंजाब नेशनल बैंक, इंडसइंड बैंक, बड़ौदा रोड पर एसबीआई, पाली रोड स्थित सेंट्रल बैंक, एक्सिस सहित कई अन्य बैंको के एटीएम में सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं है। एलआईसी कार्यालय, आईडीबीआई सहित कई अन्य बैंकों में लोगों के हाथ सैनिटाइज करने की व्यवस्था की गई है।



Related