सटोरिये की थाने में हुई पिटाई, एसपी ने टीआई व एसआई को किया लाइन अटैच


क्राइम ब्रांच टीम ने सटोरिये को पकड़ा, टीआई पर रुपये लेकर छोड़ने का आरोप। जयस ने ली आपत्ति, एसपी ने टीआई व एसआई को किया लाइन अटैच।


देश गांव
धार Published On :
bookie beaten up

धार। नालछा थाने के टीआई रोहित कछवाया सहित एक एसआई को एसपी ने लाइन अटैच कर दिया है। इन दोनों पुलिसकर्मियों पर सटोरिये के साथ मारपीट करने व उससे रुपये लेने का आरोप है।

इधर इस पूरे मामले में जयस संगठन ने आदिवासी युवक के साथ हुई मारपीट को लेकर आंदोलन की चेतावनी दी तथा गुरुवार को थाने का घेराव करने की तैयारी कर रहे थे, जिसके बाद ही कल रात में एसपी ने दोनों को थाने से हटा दिया।

इसके बाद जयस संगठन का आंदोलन अब स्थगित हो गया है। दरअसल नालछा ब्लॉक के ग्राम सोडपुर में धर्मेंद्र (25 साल) पिता दरियाव निवासी काकलपुरा सट्टे की टेबल चला रहा था।

6 जून को दोपहर के समय सूचना के बाद धार से क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंची तथा धर्मेंद्र को गिरफ्तार करते हुए नालछा थाने पर कार्रवाई के लिए छोड़ दिया। थाने पर ही शाम के समय सटोरिये धर्मेंद्र की पिटाई हुई।

इस दौरान थाने से ही छोड़ने पर धर्मेंद्र से 30 हजार रुपये मांगे गए। रुपये देने के बाद रात 10 बजे के करीब धर्मेंद्र को छोड़ दिया गया।

धर्मेंद्र की हुई पिटाई में उसे गंभीर चोट आई, जिसके बाद गांव के लोगों ने जयस संगठन को जानकारी दी। संगठन के लोग 8 जून को धर्मेंद्र के गांव पहुंचे, जहां पर चोट के निशान देखकर युवक को धार जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां पर उपचार करवाया गया।

इधर युवक के आदिवासी समाज से जुड़े होने व समाज को लेकर की गई टिप्पणी से जयस संगठन नाराज हो गया तथा टीआई व एसआई पर कार्रवाई की मांग रखी।

एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने चर्चा में बताया कि पूरे प्रकरण की जांच धामनोद एसडीओपी को सौंपी गई है। प्रथमदृष्टया टीआई व एसआई की गलती सामने आने पर दोनों को लाइन अटैच कर दिया है। फोटो और वीडियो सामने आए हैं जिनकी जांच की जा रही है।



Related