कलेक्टर की धमकी… एक भी टीका छूट गया तो फांसी टांग दूंगा…


कलेक्टर पर संवेदनहीन होने के आरोप लगाए जा रहे हैं और उनकी बर्खास्तगी की मांग भी जा रही है।


देश गांव
ग्वालियर Published On :
कौशलेंद्र विक्रम सिंह, ग्वालियर कलेक्टर


भोपाल। कोरोना की वैक्सीन को लेकर प्रशासन और विशेषकर निचले कर्मचारियों पर खासा दबाव है। ग्वालियर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे कर्मचारियों को लगभग धमकी देते हुए नजर आ रहे हैं। वे कह रहे हैं कि अगर एक टीका भी छूट गया तो मैं फांसी टांग दूंगा। इसके बाद कलेक्टर सिंह सोशल मीडिया यूज़र के निशाने पर हैं। उन पर संवेदनहीन होने के आरोप लगाए जा रहे हैं और उनकी बर्खास्तगी की मांग भी जा रही है।

कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने मंगलवार को भितरवार में विकासखंड स्तरीय वैक्सीनेशन की समीक्षा बैठक में पहुंचे थे। यहां उन्हें बताया गया कि करीब तीन हजार लोगों का वैक्सीनेशन शेष है। इस पर वे भड़क गए औ उन्होंने वैक्सीनेशन की जानकारी वाले कागज़ फाड़ दिये।  बैठक में लक्ष्य पूरा न करने पर कलेक्टर ने भितरवार एसडीएम और तहसीलदार को भी जमकर लताड़ भी लगाई। इसके साथ ही चेतावनी दी कि कि 18000 वैक्सीनेशन का लक्ष्य अगर पूरा नहीं किया जाता है तो वे सभी के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत टर्मिनेट करने की कार्रवाई करूंगा।

कलेक्टर के कर्मचारियों के साथ इस रवैये पर उनका विरोध भी हो रहा है। इसे लेकर कई तीखी प्रतिक्रियाएं भी आ रहीं हैं। सामाजिक कार्यकर्ता अजय दुबे ने मुख्यमंत्री से कलेक्टर को जनता के लिए जल्लाद बताते हुए उन्हें बर्खास्त करने तक की मांग कर दी है।

वैक्सीनेशन में ग्वालियर सबसे आख़िरी…

जिला कलेक्टरों को वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा करना है और जमीनी स्तर पर काम करने वाले कर्मचारी ही उनके लिए इस लक्ष्य को पूरा करने का सबसे बड़ा ज़रिया हैं और कलेक्टर जैसे अफसर इन कर्मचारियों पर लगातार काम का दबाव बना रहे हैं। ग्वालियर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह अपने जिले की स्थिति को लेकर ज्यादा चिंतित हैं क्योंकि अब तक वैक्सीनेशन अभियान को लेकर ग्वालियर में कुछ खास काम नहीं हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रदेश के चार महानगरों में ग्वालियर सबसे पीछे है और यहां केवल 27 लाख वैक्सीन ही लगाई गई हैं। इसके बाद ग्वालियर प्रशासन 16 दिसंबर को टीकाकरण का महाभियान चलाने की तैयारी कर रहा है।

प्रदेश के महानगरों में वैक्सीनेशन की स्थिति…

  • इंदौर 56.90 लाख
  • भोपाल 37.85 लाख
  • जबलपुर 37.24 लाख
  • ग्वालियर 27.3 लाख

 



Related