इंदौरः सेल्फी के दौरान हादसा नहीं बल्कि 12 साल की बच्ची ने की खुदकुशी


पुलिस भी इसे प्रथम दृष्ट्या सेल्फी लेने के दौरान हुआ हादसा ही मान रही थी। लेकिन, पोस्टमॉर्टम के दौरान लड़की के पास से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने कुछ लोगों से सॉरी कहा है।


देश गांव
इन्दौर Published On :
aayushi solanki
पुलिस को मोबाइल में मिली यह सेल्फी।


इंदौर। एरोड्रम थाना क्षेत्र के मां वैष्णोदेवी नगर में बुधवार को 12 वर्षीय बच्ची ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पहले इस मामले को सेल्फी लेने के दौरान हुआ हादसा माना जा रहा था।

पुलिस भी इसे प्रथम दृष्ट्या सेल्फी लेने के दौरान हुआ हादसा ही मान रही थी। लेकिन, पोस्टमॉर्टम के दौरान लड़की के पास से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने कुछ लोगों से सॉरी कहा है।

आयुषी के कपड़ों से जो सुसाइड नोट मिला है, उसमें वह अपनी सहेलियों को सॉरी कह रही है। उसने लिखा है कि हमारे बीच जो बातचीत हुई हो, उसे भूल जाना। हमारे बीच जो गलतफहमियां हैं, उसे भी भूलना।

इसके अलावा आयुषी के उल्टे हाथ पर किसी नुकीली वस्तु से भी उसने SORRY G लिखा है। इससे मामले में पुलिस जांच में गंभीर लापरवाही सामने आई है। शुरुआती जांच में पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला और वो भी इसे सेल्फी लेते हुए हुआ हादसा बताते रहे।

लड़की के परिजनों का कहना था कि बच्ची किसी एप्लीकेशन पर लगातार वीडियो देखा करती थी। कई वीडियो में मैजिक के जैसे फंदा लगता है और फिर खुल जाता है।

परिजनों के मुताबिक भी, बेटी फांसी का फंदा बनाकर कुर्सी पर खड़ी होकर सेल्फी ले रही थी, इसी दौरान कुर्सी सरक गई और फंदे की वजह से उसकी जान चली गई।
बच्ची का नाम आयुषी पिता अतुल सोलंकी है। बच्ची के माता-पिता दोनों ही पुलिसकर्मी है।

जांच अधिकारी मनमोहन सिंह ठाकुर ने बताया कि 

ज्यादा कुछ जानकारी नहीं मिली है, लेकिन मोबाइल को देखने पर उसमें कुछ फोटो मिले हैं। संभवत: उसने नादानी में फांसी लगाई है। माता-पिता के बयान लिए जाएंगे। उसने दो दुपट्टों को जोड़कर फांसी लगाई है। सेल्फी की बात सामने आई है। मोबाइल में एक सेल्फी भी मिली है।



Related