चूड़ी वाले की पिटाई… हिन्दू संगठनों का बड़ा प्रदर्शन, ड्रोन से निगरानी के साथ पुलिस ने किये पार्किंग के भी इंतज़ाम


पिछले कुछ दिनों में मालवा-निमाड़ में धार्मिक मामलों को लेकर विवादों की संख्या लगातार बढ़ रही है।


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। शहर में चूड़ी बेचने वाले को पीटे जाने के मामले में इंदौर में एक बड़ा प्रदर्शन हो रहा है। रीगल चौराहे पर मंगलवार सुबह हिन्दू संगठनों के लोग एकत्रित हुए और प्रदर्शन करने लगे। इस प्रदर्शन की तैयारी काफी पहले से की जा रही है।

इंदौर में हिंदू जागरण मंच  के मुताबिक शहर में लगातार अराजक और हिन्दू विरोधी घटनाएं हो रही हैं। इसके विरोध में डीआईजी ऑफिस ज्ञापन देने जाएंगे। पुलिस के अनुसार इस दौरान कोई बड़ी घटना न हो इसके लिए फोर्स तैनात किया है।

 

इस प्रदर्शन  पर ड्रोन कैमरों से निगरानी रखी जा रही है।  इस प्रदर्शन में हजारों लोग शामिल हो रहे हैं। जिनके लिए पार्किंग की व्यवस्था भी की गई है।

पिछले कुछ दिनों में मालवा-निमाड़ में धार्मिक मामलों को लेकर विवादों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इंदौर शहर में ही पिछले दो हफ्तों में यह तीसरी घटना बताई जा रही है।

 पुलिस प्रशासन ने पूरे मार्ग के साथ इलाके में भारी बल लगाया है। इस मामले में अलग-अलग अधिकारियों की टीमें बनाकर जिम्मेदारी सौंपी गई है। शहरभर के करीब डेढ़ सौ अधिकारी अपने अपने बल के साथ मौजूद रहेंगे।
यह प्रदर्शन रविवार को बाणगंगा क्षेत्र में हुई चूड़ी बेचने वाले की पिटाई की घटना के बाद हो रहा है।
पुलिस के अनुसार तस्लीम नाम का व्यक्ति और नाम बदलकर इलाके में चूड़ी बेच रहा था। इस मामले में उस पर छेड़छाड़ और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला भी दर्ज किया गया है।
पुलिस को तस्लीम के पास दो आधार कार्ड और एक वोटर आईडी कार्ड मिला है। एक आधार पर हिंदू नाम लिखा है, जबकि दूसरे आधार पर उसकी पहचान एक मुस्लिम धर्मावलंबी के रुप में दर्ज है। तस्लीम उप्र का रहने वाला बताया जाता है।

उल्लेखनीय है कि रविवार शाव को बाणगंगा क्षेत्र में चूड़ी बेचने गए तस्लीम के साथ मारपीट का वीडियो सामने आया था।

बाणगंगा पुलिस के मुताबिक यह वीडियो उनके क्षेत्र का नहीं है। इस पर एक समुदाय के लोग सेंट्रल कोतवाली में हंगामा कर पिटाई करने वालों पर FIR की मांग की थी।

पुलिस ने पिटाई करने वाले दो को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक फरार है। वहीं थाने में हंगामा करने वालों पर भी FIR दर्ज की गई है।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रशासन की रिपोर्ट का हवाला देकर कहा था कि युवक हिंदू नाम रखकर मोहल्ले में गया था। उसके पास से दो आधार कार्ड इसी तरह के मिले हैं। हालांकि कांग्रेस ने इस मामले पर गृह मंत्री के बयान की कड़ी निंदा की है।

 

पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करने के पीछे एक नाबालिग बच्ची के द्वारा की गई शिकायत है। दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक…

बाणगंगा पुलिस के अनुसार, न्यू गोविंद कॉलोनी में रहने वाली 13 साल की बच्ची की रिपोर्ट पर आरोपी गोलू उर्फ तस्लीम उर्फ असलीम पुत्र मोहर अली उर्फ मोर सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

पीड़ित बच्ची ने FIR में बताया कि राखी के दिन 22 अगस्त को उनकी कॉलोनी में चूड़ी बेचने वाला एक युवक आया था। बच्ची की मां ने जब आरोपी से उसका नाम पूछा तो उसने गोलू पुत्र मोहनसिंह बताया और वोटर आईडी कार्ड भी दिखाया।

इस पर मां-बेटी उससे चूड़ियां खरीदने लगीं। कुछ देर बाद जब बच्ची की मां घर के अंदर पैसे लेने गई उस समय आरोपी ने बच्ची से कहा कि लाओ में तुम्हें चूड़ियां पहना दूं।

आरोपी ने बच्ची का हाथ पकड़ा और उसे बुरी नीयत से छूने लगा। आरोपी ने बच्ची के गाल पर भी हाथ लगाया। इससे बच्ची घबरा गई और उसने शोर मचाया।

शोर सुनकर बच्ची की मां और आसपास के लोग वहां आ गए। यह देख आरोपी भागने लगा। इस पर वहां मौजूद लोगों ने उसे पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी। आरोपी की इसी पिटाई का वीडियो वायरल हुआ था।



Related