भाजपा के सम्मान समारोह ने कोरोना काल में सेवा देने वाले डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ में डाली फूट


गत दिनों कोरोना काल में विशेष सेवा देने वाले डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ का भाजपा द्वारा सम्मान किया गया। इस सम्मान समारोह के कारण डॉक्टरों व नर्सों में आक्रोश है तथा फूट डल गई है।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Published On :
usha-thakur-doctors-honor

महू। गत दिनों कोरोना काल में विशेष सेवा देने वाले डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ का भाजपा द्वारा सम्मान किया गया। इस सम्मान समारोह के कारण डॉक्टरों व नर्सों में आक्रोश है तथा फूट डल गई है जबकि इस आयोजन में मात्र कुछेक का सम्मान करने के कारण उन्हें दी गई राशि रही। जो कम लोगों के कारण कम दी गई। इस आक्रोश के बाद सभी अपना पल्ला झाड़ने में लगे हैं।

विगत दो माह से कोरोना काल में सेवा देने वाले डॉक्टरों, नर्सों का भाजपा द्वारा सम्मान किया गया जिसमें मंत्री व स्थानीय विधायक उषा ठाकुर ने कुछ डॉक्टरों व नर्सों का ना सिर्फ सम्मान किया बल्कि उनकी आरती उतार कर एक-एक हजार रुपये की राशि भी दी। यही राशि मुख्य आक्रोश व पर्दे के पीछे की नाराजगी का कारण बनी।

चर्चा है कि इस राशि की व्यवस्था की जिम्मेदारी नगर के भाजपा नेता को दी गई। उक्त नेता ने जब नामों की सूची मांगी तो उसमें सत्तर से ज्यादा नाम सामने आए। सत्तर कर्मचारियों को सत्तर हजार रुपये की व्यवस्था करना थी जो नेता को ज्यादा लगी। बाद में कम करते-करते सूची में मात्र सात डॉक्टर व कुछ नर्सों के नाम शेष रह गए।

इस आयोजन में जिनका सम्मान नहीं हुआ इसमें कुछ डॉक्टर, नर्स व अन्य स्टाफ ऐसा था जिन्होंने प्रतिदिन घंटों कड़ी मेहनत की। उन्हें पूछा तक नहीं गया तो कुछ ऐसे भी थे जो सेवा कार्य करते-करते स्वयं संक्रमित भी हुए।

ऐसे नाम जो इससे नाराज थे, उन्होंने अपनी भड़ास व्हाटसअप के माध्यम से अस्पताल के प्रमुख डॉ. हंसराज वर्मा पर निकाली क्योंकि उनके अनुसार सूची उन्होंने दी थी।

सूची में हैंड राइटिंग उन्हीं की है। कुछ नाराज डॉक्टरों ने यहां तक कहा कि सम्मान करना था तो सभी का करते या किसी का नहीं करते। हमारी सेवाओं को अनदेखा करते हुए हमारा अपमान हुआ है।

कुछ कर्मचारियों का कहना है कि वे विगत सवा साल से कड़ी धूप और ठंड में शहर व ग्रामों में घूम-घूम कर संक्रमितों की जांच कर रहे हैं, सैम्पल ले रहे हैं और जिसकी जिम्मेदारी थी, वे दूर खड़े रहते थे। और अभी भी सिर्फ दिखावा ज्यादा काम कम कर रहे हैं। इसके बावजूद हमें अनदेखा किया गया।

डॉक्टरों की नाराजगी व फूट को देखते हुए भाजपा इससे पल्ला झाड रही है। नेताओं का कहना है हमें अस्पताल से जो सूची मिली थी, उन्हीं का सम्मान किया। जिस दिन हम करेंगे तो सभी का करेंगे।