मां कोविड पॉजिटिव और बेटा नहीं खा रहा था खाना, फिर डांसिंग कॉप रंजीत ने निभाया मां का फर्ज


डांसिंग कॉप रंजीत सिंह ने बिंदिया के बेटे से वीडियो कॉल में बात की तो उसने रात का खाना खा लिया। इधर सुबह कांस्टेबल रंजीत खुद उसके लिए खाना लेकर घर पहुंचे और मां को जल्दी लाने की जानकारी दी।


देश गांव
इन्दौर Published On :
dancing-cop-indoer

इंदौर। महामारी के इस गंभीर दौर में पुलिस के फ्रंटलाइन वारियर्स फील्ड में ड्यूटी कर आम लोगों की मदद कर ही रहे हैं लेकिन मानवीयता के नाते अपनी एक अलग भूमिका भी निभा रहे हैं।

8 साल के एक मासूम बच्चे की मां कोरोना पॉजिटिव हुई तो बेटे ने खाना-पीना छोड़ दिया। इधर, बेटे को अकेले संभाल रहे पिता ने मां को जब इस बात की जानकारी दी तो वह कोविड सेंटर से बेटे को मनाने लगी लेकिन बेटा फिर भी राजी नहीं हुआ।

मां ने फोन पर कई जतन किए और उसकी पसंद के खाने के साथ ही अलग-अलग तरीके से मनाने की कोशिश की, लेकिन बेटा तब भी नहीं माना।

अचानक खंडवा रोड के कोविड केयर सेंटर में इलाज ले रही परेशान मां के जेहन में एक बात आई कि उसका बेटा इंदौर में जब भी माता-पिता के साथ घूमने निकलता था तो चौराहे पर खड़े ट्रैफिक पुलिस के जवान रंजीत को डांस के साथ ड्यूटी करते देख बड़ा खुश होता था।

घर में अकेले रहने के दौरान भी बेटा डांसिंग कॉप के वीडियो सोशल मीडिया और फेसबुक पर देखा करता था। इस बात पर मां को लगा यदि कांस्टेबल रंजीत उसे समझाएगा तो वह मान जाएगा।

बेटे के भोजन की चिंता में मां ने कोविड सेंटर से मदद लेकर कांस्टेबल रंजीत का नंबर निकाला और उससे बात की और परेशानी बताई तो कांस्टेबल रंजीत ने भी पूरे परिवार की मदद की।

उनके बेटे से वीडियो कॉल में बात की तो बेटे ने रात का खाना खा लिया। इधर सुबह कांस्टेबल रंजीत खुद उसके लिए खाना लेकर घर पहुंचा और मां को जल्दी लाने की जानकारी दी।

बता दे कि मां राधा स्वामी कोविड केयर सेंटर में इलाज के लिए भर्ती हैं। पलासिया इलाके के चंद्रलोक कालोनी में रहने वाले इंवेंट आर्गेनाइजर विनय शर्मा की पत्नी बिंदिया शर्मा 20 तारीख को कोरोना पॉजिटिव हुई।

उन्हें हाल ही में बनाए गए राधास्वामी सत्संग ब्यास के कोविड सेंटर में भर्ती किया गया। इधर, मां बिंदिया शर्मा को जब पता चला तो उन्होंने डांसिंग कॉप और तेजतर्रार ट्रैफिक जवान रंजीत को धन्यवाद देने के साथ ही दुआएं भी दीं।

वहीं ट्रैफिक जवान रंजीत ने बताया कि इस तरह के अनुभव उन्हें और भी अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करते हैं।



Related