डॉ. आंबेडकर विश्वविद्यालय की शोधार्थी दीपमाला रावत ने राजभवन में ग्रहण किया पदभार


सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. आंबेडकर विश्वविद्यालय की शोधार्थी दीपमाला रावत ने बीते दिनों राजभवन में गठित जनजातीय प्रकोष्ठ के विषय विशेषज्ञ का पद ग्रहण किया।


देश गांव
इन्दौर Published On :
dr deepmala rawat

महू। निमाड़ का गौरव क्रान्तिसूर्य जननायक टंट्या भील की गौरव कलश यात्रा की प्रभारी एवं जनजाति गौरव से सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. आंबेडकर विश्वविद्यालय की शोधार्थी दीपमाला रावत ने बीते दिनों राजभवन में गठित जनजातीय प्रकोष्ठ के विषय विशेषज्ञ का पद ग्रहण किया।

विश्वविद्यालय की पीएचडी शोधार्थी का राजभवन में सम्मानित पद पर पहुंचना विश्वविद्यालय के लिए गौरव की बात है। मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली बार माननीय राज्यपाल के निर्देशन में जनजातियों से संबंधित सभी विषयों के लिए बनी सभी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए जनजातीय प्रकोष्ठ जैसी सबसे ताकतवर सेल का गठन किया गया।

जनजातीय प्रकोष्ठ सदस्यों के माध्यम से आदिवासी अपनी समस्याओं से सीधे राज्यपाल को अवगत करा सकेंगे। जनजाति समाज और महिलाओं से जीवंत संपर्क बना रहे इसलिए दीपमाला रावत (सामाजिक कार्यकर्ता) को सदस्य बनाया गया।

इस प्रकोष्ठ के अध्यक्ष दीपक खांडेकर, पूर्व आईएएस, सचिव बीएस जामोद आईएस, विषय विशेषज्ञ डॉ. दीपमाला रावत, विधि सलाहकार भग्गू सिंह रावत और विक्रांत कुमरे नियुक्त किए गए हैं।

रावत क़े मनोनयन पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डीके शर्मा, कुलसचिव डॉक्टर अजय वर्मा, प्रो. डीके वर्मा, प्रो. देवाशीष देवनाथ, प्रो. शैलेंद्र मणि त्रिपाठी, डॉक्टर मनीषा सक्सेना, सहायक कुलसचिव संध्या मालवीय आदि ने बधाई दी।



Related