इंदौरः आईएएस अधिकारी से धोखधड़ी, दस्तावेज में बताया पति; पुलिस ने दर्ज किया केस


आईएएस अधिकारी ने लसूड़िया थाने में दर्ज शिकायत में कहा है कि आरोपी महिला एलआईसी एजेंट है। आरोपी महिला उनसे एलआईसी एजेंट के रूप में ही मिली थी और उनकी एलआईसी पॉलिसी करवाने के नाम पर दस्तावेज ले लिए थे।


देश गांव
इन्दौर Published On :
lasudia-police-station

इंदौर। इंदौर के लसूड़िया पुलिस थाने में एक आईएएस अफसर ने एक महिला के खिलाफ केस दर्ज कराया है। अधिकारी ने अपनी शिकायत में कहा है कि महिला उसे ब्लैकमेल कर रही है और उसने दस्तावेज में धोखाधड़ी कर पति के रूप में उसका नाम दर्ज कराया है।

शिकायत के मुताबिक, महिला ने धोखाधड़ी करते हुए अपने पासपोर्ट व मतदाता परिचय पत्र में बतौर पति अधिकारी का नाम दर्ज कराया है। अधिकारी वर्तमान में नगर प्रशासन एवं विकास विभाग भोपाल मे पदस्थ हैं।

दूसरी तरफ, महिला ने नवंबर 2016 में ही आईएएस अफसर पर शादी के नाम पर धोखा देने का आरोप लगाया था। लसूड़िया थाने में ही वह इसकी शिकायत भी दर्ज करवा चुकी है।

शिकायत में उसने कहा था कि उज्जैन के अपर कलेक्टर संतोष वर्मा ने शादी का झांसा देकर उन्हें साथ रखा और ज्यादती की। उसने संतोष के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी की थी। इसी दौरान दोस्ती हुई, जो प्रेम में बदल गई।

दोनों ने विवाह कर लिया था। जब वह हरदा में पदस्थ थे तब वे पत्नी की तरह सरकारी क्वार्टर में साथ रही थी। उसके बाद उनका उज्जैन ट्रांसफर हो गया तो युवती को टाउनशिप में घर दिलवाया था। वह घर संतोष वर्मा की मां के नाम पर है।

अपर कलेक्टर का पहले ही विवाह हो चुका था, लेकिन उन्होंने छुपाया। बाद में शादी से इनकार कर दिया। उन्होंने इसकी शिकायत कई जगह की थी।

आईएएस अधिकारी संतोष वर्मा ने लसूड़िया थाने में दर्ज शिकायत में कहा है कि आरोपी महिला एलआईसी एजेंट है। आरोपी महिला उनसे एलआईसी एजेंट के रूप में ही मिली थी और उनकी एलआईसी पॉलिसी करवाने के नाम पर दस्तावेज ले लिए थे।

महिला ने बाद में धोखाधड़ी करते हुए दस्तावेजों का इस्तेमाल किया और वोटर आईडी में बतौर पति अधिकारी का नाम दर्ज करवा दिया। महिला अब पासपोर्ट भी बनवाने की तैयारी में थी और पासपोर्ट में भी वह उसे अपना पति बताते हुए विभाग में आवेदन दे चुकी थी।

वहीं, जैसे ही हाई-प्रोफाइल मामला पुलिस के सामने आया तो पुलिस ने धोखाधड़ी, कूटरचना सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है। एडिशनल एसपी राजेश रघुवंशी ने बताया कि पुलिस इस मामले में काफी बारीकी से जांच-पड़ताल कर रही है।