जनजातीय गौरव दिवस: आदिवासी संस्कृति का उत्सव, झूम कर नाचीं मंत्री उषा ठाकुर


कार्यक्रम के दौरान जनजाति समाज की उन बालिकाओं का सम्मान भी किया गया जिन्होंने आभावों के बीच रहकर अपने पढ़ाई की वह विभिन्न परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त किए।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Updated On :

इंदौर। महू तहसील में जनजाति गौरव दिवस उत्साह से मनाया गया। इस मौके पर मंत्री व स्थानीय विधायक उषा ठाकुर ने जमकर काका काका बाबा गीत पर नृत्य किया। यहां कार्यक्रम में जनजातीय समाज के मेधावी छात्राओं को मंच से सम्मानित भी किया गया। यह कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी के इर्द-गिर्द घूमता रहा क्योंकि पूरी तरह से केवल भाजपा के नेता ही शामिल रहे।

मंगलवार को आजाद मैदान पर जनजाति गौरव दिवस मनाया गया। इस मौके पर महू तहसील के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों व आदिवासी अंचलों से सैकड़ों की संख्या में जनजाति समाज के समाज के नागरिक मौजूद रहे।

इनके अलावा मंत्री व स्थानीय विधायक उषा ठाकुर, स्वयंसेवक संघ के निशांत खरे, भाजपा के राम किशोर शुक्ला, राधेश्याम यादव जितेंद्र शर्मा, छावनी परिषद के उपाध्यक्ष शिव शर्मा, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष मनोज ठाकुर सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

मंच पर मंच पर जनजाति समाज के वरिष्ठ नेता व समाजसेवी अतिथि के रूप पर मौजूद थे। जिनका स्वागत व सम्मान विभिन्न समाजों के प्रमुखों ने किया।

कार्यक्रम के दौरान जनजाति समाज की उन बालिकाओं का सम्मान भी किया गया जिन्होंने आभावों के बीच रहकर अपने पढ़ाई की वह विभिन्न परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त किए।

कार्यक्रम के दौरान मंत्री उषा ठाकुर, जिला भाजपा अध्यक्ष राजेश सोनकर, भाजपा के वरिष्ठ नेता आरएसएस के पदाधिकारी मैदान पर नीचे बैठे रहे।

कार्यक्रम के दौरान जनजाति समाज के बालक बालिकाओं ने आदिवासी लोकनृत्य पर जमकर नृत्य किया। यहां पर आदिवासी लोक गायक ने भी अपने गीतों की प्रस्तुति दी।

 

कार्यक्रम के दौरान मंत्री उषा ठाकुर ने भी आदिवासी समाज के लोगों के साथ मिलकर करीब 15 मिनट तक लोकगीतों पर नृत्य किया।

 

इसके बाद समाज की विशाल रैली नगर में निकली तथा रास्ते भर युवक-युवतियों ने आदिवासी लोकगीतों पर नृत्य किया मंच पर मौजूद अतिथियों का स्वागत मेजर सौरभ शर्मा ने किया।