पानी की टंकी पर भिड़े महू के पार्षद और रहवासी, दोनों ही दे रहे आत्मदाह की धमकी


रहवासियों का कहना है कि यह टंकी 18 वर्ष पूर्व स्थापित की गई थी। अब तक किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई है। लोगों ने कहा कि  टंकी सड़क से काफी दूर है और इसके चलते यातायात में भी बाधा नहीं है।


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। महू छावनी परिषद क्षेत्र में बुधवार को एक अजब विरोध हुआ। यहां क्षेत्र के वार्ड क्रमांक चार के हाट मैदान चौराहे पर सालों पहले लगाई गई पानी की टंकी को हटाकर दूसरी जगह ले जाने को लेकर था।

जब लोगों को इस कवायद का पता चला तो वे बड़ी संख्या एकजुट होकर छावनी परिषद कार्यालय पहुंच गए और इस कार्य का विरोध करते हुए काम ना करने की चेतावनी दी। स्थिति को देखते हुए बोर्ड इंजीनियर एच.एस कोलाय अपने कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचे यहां भी रहवासियों ने इस कार्य का जमकर विरोध किया।

यहां के रहवासियों का कहना है कि यह टंकी 18 वर्ष पूर्व स्थापित की गई थी। अब तक किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई है। लोगों ने कहा कि  टंकी सड़क से काफी दूर है और इसके चलते यातायात में भी बाधा नहीं है। लोगों ने कहा कि कि टंकी के पीछे कुछ परिवार हैं जिनके व्यापार के लिए भारी वाहन आते हैं साथ ही एक परिवार ने बिना अनुमति के चार मंजिला भवन बना कर बैंक को किराये पर दे दिया है और उनकी  वाहन पार्किंग के लिए के लिए जगह देने के उद्देश्य  से इस टंकी को हटा कर अन्य स्थान पर लगाया जा रहा है।

रहवासियों ने आरोप लगया कि जब टंकी के पीछे बड़े-बड़े मकान बना रहे थे तो इन्होंने इसी टंकी के पानी का उपयोग किया तब क्यों नही हटाया गया। क्षेत्र की पार्षद रचना विजयवर्गीय इन्हीं के कहने पर  इस टंकी को हटवा रहीं हैं। जबकि  बोर्ड में पहले ही इस टंकी को हटाने का प्रस्ताव रद्द हो चुका है।

दोनों ओर से दी आत्मदाह की चेतावनीः–  इस दौरान मौके पर दोनों पक्षों की ओर से जमकर विरोध हुआ बात हाथापाई तक पहुंच गई। यहां ऐन मौके पर पुलिस ने पहुंच कर मामला शांत करवाया। विवाद के दौरान एक रहवासी ने कहा कि यह टंकी अगर यहां से हटाई गई तो वह आत्मदाह कर लेंगे।

यह सुनने के बाद बोर्ड अधिकारी सकते में आ गए। भारी विरोध को देखते हुए क्षेत्र की पार्षद रचना विजयवर्गीय ने भी जोश में आकर कह दिया
अगर टंकी नहीं हटाई गई तो वे भी आत्मदाह कर लेंगी।

पार्षद का कहनाः क्षेत्र की पार्षद रचना विजयवर्गीय ने कहा  कि टंकी को स्थानांतरित करने का प्रस्ताव बोर्ड में पास हो चुका है। इसे यहां से हटा कर कुछ दूर स्थापित किया जा रहा है तथा और ज्यादा कनेक्शन कर दिए जाएंगे। यहां की सड़क चौड़ी कर इस चौराहे पर रोटरी बना कर सौंदर्गीयकरण किया जाएगा।

विजयवर्गीय ने कहा कि टंकी हटाने का विरोध मात्र दो परिवार कर  रहे है।  आम रहवासियों को कोई परेशानी नही है। यहां रोटरी बनने से यहां लगने वाली दुकानें कम लगेगी।

जिनसे कुछ लोग किराया लेते है वह बंद हो जाएगा। विरोध के बीच टंकी स्थानांतरित कार्य शुरू हुआ। विरोध को देखते हुए  थाना प्रभारी दिलीप सिंह पुरी बल के साथ मौके पर पहुंचे तथा रहवासियों हटवाया।

कुछ रहवासियों ने जब विरोध किया तो  टीआई पुरी ने स्पष्ट रूप से कहा कि पहले आर्डर लेकर आओ फिर बात करेंगे। इसके बाद बोर्ड अमले में टंकी को स्थानांतरित करने का काम शुरू कर दिया।