महूः परिवार सोता रहा और चोर लाखों के जेवर व नकदी ले उड़े


बीती रात चोरों ने एक ऐसे घर को अपना निशाना बनाया जहां पूरा परिवार अंदर सो रहा था। चोर यहां से ना सिर्फ लाखों के गहने, नकदी ले गए बल्कि बाहर खड़े पांच वाहनों की चाबी भी साथ ले गए। इतना ही नहीं चोर घर में रखा कीमती लैपटॉप निकालकर रख गए और सिर्फ उसका बैग अपने साथ ले गए।


अरूण सोलंकी अरूण सोलंकी
इन्दौर Published On :
mhow-theft

– वाहनों की चाबी ले गए, लेकिन कीमती लैपटॉप छोड़ गए।

महू। बीती रात चोरों ने एक ऐसे घर को अपना निशाना बनाया जहां पूरा परिवार अंदर सो रहा था। चोर यहां से ना सिर्फ लाखों के गहने, नकदी ले गए बल्कि बाहर खड़े पांच वाहनों की चाबी भी साथ ले गए। इतना ही नहीं चोर घर में रखा कीमती लैपटॉप निकालकर रख गए और सिर्फ उसका बैग अपने साथ ले गए।

घटना बुधवार की रात करीब दो बजे सिग्नल विहार कॉलोनी निवासी तारिक कुरैशी के निवास पर हुई। पीड़ित कुरैशी ने बताया कि रात एक बजे तक हम सभी सदस्य जग रहे थे। सुबह उठे तो देखा कि अन्य कमरों का सामान पूरी तरह बिखरा हुआ है और अलमारी खुली है।

चोरों ने उनके माता-पिता के कमरे की खिड़की से अंदर प्रवेश किया क्योंकि उनके माता पिता बाहर गए हुए हैं। चोरों ने यहां लगी अलमारी की तिजोरी तोड़कर उसमें रखे करीब पचास हजार रुपये नकदी निकाले।

इसके बाद तीन अन्य कमरों में भी गए, लेकिन उसमें हम सो रहे थे जिस कारण अंदर नहीं आए। इसके बाद अन्य चार कमरों की अलमारी को खोलकर पूरा सामान अस्त-व्यस्त कर दिया।

एक अलमारी में बेटी की दो तोले सोने की बाली जिसकी कीमत करीब एक लाख रुपये तथा तीस हजार रुपये नकदी तथा एक अन्य कमरे से सोने की दो तोले की चेन जिसकी कीमत सवा लाख रुपये तथा सत्रह हजार रुपये नकदी चुरा ले गए।

कुरैशी ने बताया कि चोर इसके अलावा लैपटॉप का बेग ले गए जिसमें एटीएम कार्ड, आधार कार्ड, पेन कार्ड व पर्स जिसमें तीन हजार रुपये नकद, रेमंड कंपनी का चश्मा रखा था, लेकिन बैग में रखा ऐपल कंपनी का लैपटॉप वहीं निकाल कर रख गए।

चोर इसके साथ ही चार कारों की चाबी व एक बुलेट मोटरसाइकिल की चाबी भी ले गए। कुरैशी ने बताया कि तत्काल बड़गोंदा पुलिस को इसकी सूचना दी तो वहां से जवाब मिला कि पहले स्वयं थाने आकर रिपोर्ट लिखवाएं।

कुरैशी के अनुसार, उनके यहां से चोरी गए नकदी व जेवर आदि की कीमत करीब तीन लाख रुपये है जबकि बड़गोंदा पुलिस के अनुसार यहां 97 हजार रुपये की चोरी हुई।
बड़गोंदा थाना क्षेत्र में लंबे समय से इस प्रकार के वारदात हो रहे हैं, लेकिन एक भी मामले में आरोपियों को पकड़ा नहीं जा सका है।