दीपावली पर हो सकता है इंदौर एयरपोर्ट पर नवनिर्मित 15 विमान पार्किंग का उद्घाटन


इंदौर में शेड्यूल उड़ानों के अलावा महू के लिए सेना के विमान और पीथमपुर की फार्मा कंपनियों के विशेष विमानों की भी आवाजाही बनी रहती है।


देश गांव
इन्दौर Published On :
indore-airport-parking

इंदौर। देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर बनाई जा रही 15 विमानों की पार्किंग का दीवाली के मौके पर उद्घाटन किया जा सकता है। ऐसा होने के बाद एयरपोर्ट पर एक समय में 26 विमान खड़े हो सकेंगे।

सबसे बड़ी बात यह है कि अहमदाबाद और मुंबई जैसे बड़े एयरपोर्ट की विमान पार्किंग भर जाने के बाद इंदौर का एयरपोर्ट नया सेंटर बनकर उभरेगा।

इस नए बने एयरक्राफ्ट पार्किंग निर्माण से जुड़ी एक और अच्छी बात यह है कि प्रबंधन ने 65 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत वाले इस काम को केवल 50 करोड़ के बजट में ही पूरा कर लिया।

एयरपोर्ट प्रबंधन के मुताबिक, कोरोना काल के पहले ही विमान पार्किंग का निर्माण कार्य शुरू हो गया था, लेकिन कोरोना लॉकडाउन की वजह से इसके पूरा होने में देरी हुई। निर्माण कार्य अब लगभग पूरा हो चुका है। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया दीवाली के मौके पर इसका उद्घाटन कर सकते हैं।

प्रभारी एयरपोर्ट डायरेक्टर प्रबोध शर्मा के मुताबिक, 15 विमानों की पार्किंग में 10 विमान एयरबस होंगे जबकि पांच एटीआर। 11 पार्किंग पहले से मौजूद हैं। इस तरह से एक समय में 26 विमान खड़े हो सकेंगे, जो मध्य भारत में सबसे अधिक हैं।

इंदौर में शेड्यूल उड़ानों के अलावा महू के लिए सेना के विमान और पीथमपुर की फार्मा कंपनियों के विशेष विमानों की भी आवाजाही बनी रहती है।

कोरोना संकट की दूसरी लहर खत्म होने के बाद उड्डयन कारोबार फिर से लय में आ रही है और धीरे-धीरे ज्यादा उड़ानों की जरूरत महसूस की जाएगी। दो-तीन विमानों का संचालन करने वाली कई छोटी एयरलाइंस को बेस बनाने के लिए एयरपोर्ट की जरूरत होती है।

इंदौर में स्टार एयर ऐसा कर चुकी है। अब दूसरी उड़ान कंपनियां भी इंदौर आ सकती हैं। अभी इंदौर में पांच विमान रात में खड़े होते हैं। इसके बाद कम से कम 20 विमान रात में रुक सकेंगे।

ऐसा होने के बाद इंदौर से अलसुबह की ज्यादा उड़ानें मिल सकेंगी। बिजनेस क्लास के यात्रियों के लिए अलसुबह की उड़ान सबसे अच्छी मानी जाती है।

एयरपोर्ट प्रबंधन ने बताया कि यहां समानांतर टैक्सी-वे बनाने का काम भी चल रहा है, जिससे रनवे लैंडिंग के तत्काल बाद फ्री हो जाएगा। अभी किसी विमान के लैंड करने पर विमान रनवे के अंतिम छोर पर जाता है और वहां से यूटर्न लेकर एप्रिन में आता है।

इससे हर बार रनवे कम से कम पांच मिनट के लिए ब्लॉक हो जाता है। इस कारण दूसरे विमान को इंतजार करना पड़ता है। अब यह समस्या खत्म हो जाएगी।