एमपी के कांग्रेस नेता की सरेराह हत्या, सामने आया सीसीटीवी फुटेज


छतरपुर ज़िले के घुवारा ब्‍लॉक के कांग्रेस अध्‍यक्ष इंद्रप्रताप सिंह परमार उर्फ छोटे राजा की बड़ा मल्‍हरा के पास टिंकू चौहान के ढाबा होटल के बाहर दो अज्ञात आरोपितों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी।


शिवेंद्र शुक्ला शिवेंद्र शुक्ला
छतरपुर Published On :
chhatarpur-congress-leader-murder

छतरपुर। छतरपुर ज़िले के घुवारा ब्‍लॉक के कांग्रेस अध्‍यक्ष इंद्रप्रताप सिंह परमार उर्फ छोटे राजा की बड़ा मल्‍हरा के पास टिंकू चौहान के ढाबा होटल के बाहर दो अज्ञात आरोपितों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी।

घुवारा से उन्‍हें गंभीर हालत में जिला अस्‍पताल छतरपुर रैफर किया गया था, लेकिन छतरपुर में डॉक्‍टरों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया, जिसके बाद परमार के परिजनों ने अस्‍पताल में तोड़फोड़ की और छत्रसाल चौराहे पर देर रात हंगामा भी किया।

इंद्र प्रताप सिंह परमार पर हमला करने वाले बदमाशों ने पांच राउंड फायरिंग की थी, जो वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई। घटना के बाद मौके पर बड़ा मल्‍हरा से कांग्रेस प्रत्‍याशी रहे रामसिया भारती मौके पर पहुंचे। साथ ही साथ भाजपा के कई नेता भी मौके पर पहुंचे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी घटना पर क्षोभ जताते हुए ट्वीट किया है कि छतरपुर जिले के घुवारा ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इंद्र प्रताप सिंह की गोली मारकर हत्या किये जाने की दुखद ख़बर प्राप्त हुई। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं। मै सरकार से मांग करता हूं कि तत्काल आरोपियों का पता लगाकर उनकी गिरफ़्तारी हो, उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।

वहीं, कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने हत्या की निंदा करते हुए मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक, घुवारा कांग्रेस ब्‍लॉक अध्‍क्ष इंद्रप्रताप सिंह परमार उर्फ छोटे राजा बड़ा मल्‍हरा के पास एक होटल के बाहर किसी से बात कर रहे थे कि अचानक दो अज्ञात बाइक सवार आए और परमार पर फायरिंग शुरू कर दी।

जब तक कोई कुछ समझ पाता, तब तक परमार गंभीर रूप से घायल हो चुके थे। लोग परमार को संभालने लगे और इसी दौरान हमलावर मौके से फरार हो गए।

घायल हालत में परमार को बड़ा मल्‍हरा के अस्‍पताल ले जाया गया, लेकिन गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्‍टरों ने छतरपुर जिला अस्‍पताल के लिए रैफर कर दिया, जहां डॉक्‍टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस हमलावरों का पता लगाने में जुटी रही, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है और क्षेत्र में नाकाबंदी कर दी है।