ज़मीन विवाद में मौसेरे भाई की गोली मारकर हत्या


तीन बीघा जमीन को लेकर मौसेरे भाईयों में चल रहा था विवाद। इस मामले में तहसीलदार कोर्ट से एक पक्ष के पक्ष में फैसला हो चुका है। जिसके बाद दूसरा पक्ष नाराज़ था।


देश गांव
सागर Published On :

छतरपुर।  जिले की नौगांव तहसील की लुगासी चौकी क्षेत्र के ग्राम भदेसर में शनिवार को एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मामला जमीनी विवाद का था। जिसे लेकर एक नौजवान की हत्या उसके मौसेरे भाई ने कर दी।

इस विवाद की शुरुआत में एक पक्ष के पांच से ज्यादा लोगों ने दूसरे पक्ष के घर में घुसकर लाठियों और पत्थरों से हमला कर दिया। इस दौरान देशी कट्टे से 32 वर्षीय युवक को गोली मार दी गई। हत्या के बाद आरोपी फरार हो गए लेकिन आरोपियों की इतनी दहशत है कि घायल अवस्था में जब युवक को अस्पताल लाया गया तो गांव का कोई व्यक्ति साथ नहीं आया। अस्पताल पहुंचते-पहुंचते युवक ने दम तोड़ दिया।

कब्जे को लेकर तहसीलदार का आदेश, फिर भी हो गई हत्याः 
ग्राम भदेसर निवासी लाखन सिंह परमार ने बताया कि तीन बीघा जमीन को लेकर उसका अपने मौसेरे भाई वीरेन्द्र सिंह एवं अन्य भाईयों के साथ कब्जे का विवाद चल रहा था। इस जमीन को लेकर कोर्ट कचेहरी हुई। पिछले दिनों वह तहसीलदार न्यायालय से केस भी जीत गया था।

तहसीलदार ने जमीन पर कब्जे का आदेश दिया था जिसके बाद उसने जमीन जोत ली लेकिन इसी बात को लेकर वीरेन्द्र सिंह और उसके साथियों ने इसे अपनीहार समझ ली।  शनिवार को दोपहर करीब एक बजे जब सभी लोग घर पर थे तभी मौसेरे भाईयों वीरेन्द्र सिंह, बबलू, दिनेश, हक्कू, छोटे सिंह सहित कुछ बाहर के लोगों ने घर पर हमला कर दिया। हमलावर हथियारों के साथ आए और लोगों को खोज-खोज कर मारपीट करने लगे।

इसी बीच लाखन सिंह का छोटा भाई कोमल सिंह परमार हमलावरों से बचने के लिए छत की ओर भागा। आरोपी वीरेन्द्र सिंह ने उसका पीछा किया और छत पर पटककर उसे अवैध कट्टे से गोली मार दी। आरोपी हमला कर मौके से भाग गए। गंभीर रूप से घायल अवस्था में दो लोग उसे नौगांव लेकर भागे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पहले भी की शिकायतेंः लाखन सिंह परमार ने बताया कि वीरेन्द्र सिंह आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है। वह गांव में दूसरे जिलों के आपराधिक व्यक्तियों को शरण देता है। विगत दिनों गांव के सरपंच पर भी हमला किया गया था। इसे लेकर लुगासी चौकी पुलिस से शिकायत की गई थी फिर भी पुलिस ने गांव में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों पर ध्यान नहीं दिया।  जिससे अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए और हत्या जैसी वारदात घटित हो गई। हत्या के बाद मृतक के परिजनों से मिलने के लिए एसडीओपी कमलकुमार जैन, थाना प्रभारी नौगांव संजय बेदिया, लुगासी चौकी प्रभारी डीडी शाक्य पहुंचे और फरियादियों से बात की।

परिवार ने मांगी सुरक्षाः  नौगांव अस्पताल में मृत भाई कोमल सिंह परमार की लाश पर रोते हुए भाई लाखन सिंह परमार ने बताया कि हमलावरों की पूरे गांव में दहशत है। जब हमें सुरक्षा दी जाएगी तभी हम गांव जा सकते हैं उसने बताया कि बगैर सुरक्षा के हमारा गांव में जाना संभव नहीं है। एसडीओपी कमलकुमार जैन ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें गठित की गई हैं जल्द ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा।



Related