उज्जैनः बड़नगर में महिला एसडीएम और भाजपा के पूर्व विधायक में पानी निकालने पर तू-तड़ाक


यह वीडियो मंगलवार का बताया जा रहा है जब एसडीएम पानी निकासी के लिए अवरोध हटवाने पहुंची थीं, तभी वहां पूर्व विधायक ने समर्थकों के साथ आकर काम रोकने को कहा।


आशीष यादव आशीष यादव
उज्जैन Updated On :
sdm nidhi singh and shantilal dhabai

उज्जैन। उज्जैन के बड़नगर से भाजपा के पूर्व विधायक शांतिलाल धबाई और एसडीएम निधि सिंह के बीच तू-तड़ाक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

यह वीडियो मंगलवार का बताया जा रहा है जब एसडीएम पानी निकासी के लिए अवरोध हटवाने पहुंची थीं, तभी वहां पूर्व विधायक ने समर्थकों के साथ आकर काम रोकने को कहा।

इसके बाद शुरू हुई बहस तू-तू मैं-मैं तक आ पहुंची और पूर्व विधायक ने महिला एसडीएम को नौकरी से निकलवाने की धमकी दे दी। बदले में एसडीएम ने भी कह दिया- जो बने कर लेना, चल दफा हो यहां से…।

वीडियो में पूर्व विधायक के धमकाने पर एसडीएम निधि सिंह ने कहा- तमीज से बात करो… तू कौन होता है मुझसे पूछने वाला कि कितने दिन नौकरी करूंगी… हिम्मत है तो हटवाकर दिखा… चल निकलवाकर दिखा… दफा हो यहां से…।

जानकारी के मुताबिक, शहर के बंगरेड इलाके के लोगों ने घरों में बारिश का पानी घुसने की शिकायत एसडीएम से की थी। बताया था कि मदन नागर के रास्ते में अवरोध लगाने से पानी घरों में भर रहा है।

इसके बाद ही एसडीएम निधि सिंह अमले के साथ मंगलवार को पानी निकासी के रास्ते में आ रही बाधा हटवाने पहुंची थीं। जब अवरोध हटाया जा रहा था, तभी पूर्व विधायक भी समर्थकों के साथ पहुंच गए।

बताया जा रहा है कि बड़नगर से केसुल के लिए रास्ता बनाया जा रहा है। एसडीएम जेसीबी की मदद से पानी निकासी के लिए रास्ता बनवा रही थीं। रास्ते के किनारे पूर्व विधायक के एक समर्थक का खेत है। इसमें भी पानी भरा था।

पूर्व विधायक चाहते थे कि पहले एसडीएम इस खेत से पानी निकालें, लेकिन एसडीएम निधि सिंह के सामने उनकी एक न चली और उन्हें बैरंग लौटना पड़ा।

इस बीच पीसीसी चीफ कमलनाथ के समन्वयक व मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष नरेंद्र सलूजा ने पूर्व विधायक और एसडीएम के बीच हुई इस तू-तड़ाक का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने लिखा, ‘बडनगर से पूर्व भाजपा विधायक शांतिलाल धबाई का एसडीएम ने किया शब्दों से सम्मान….. भाजपा सरकार में अधिकारियों का जनता और जनप्रतिनिधियों के प्रति ऐसा ही है रवैया…।’

इस मामले में जब एसडीएम निधि सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि शिकायत प्राप्त हुई थी कि खेतों व आवेदकों के घरों में पानी घुस रहा है। वहीं मौके पर पटवारी और में गई थी। वहां पर पटवारी से भी अभद्रता के साथ भी गाली-गलौज की गई व मुझसे भी बदतमीजी से बात की गई।



Related