दमोह उपचुनावः कमलनाथ की आमसभा, भाजपा से ज्यादा राहुल सिंह लोधी पर हो सकता है निशाना


पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की आज दमोह में सभा है वे कांग्रेस के प्रत्याशी अजय टंडन का नामांकन भी भरवाएंगे। स्थानीय राजनीतिक समीकरणों को देखें तो संभावना है कि कमलनाथ का हमला भाजपा से ज्यादा राहुल सिंह लोधी पर होगा।


देश गांव
राजनीति Updated On :

भोपाल। दमोह उपचुनावों को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज़ हो चुकी हैं। गुरुवार को यहां पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ पहुंच रहे हैं। यहां कांग्रेस के उम्मीदवार बनाए गए अजय टंडन का नामांकन जमा करवाएंगे और उनके लिये सभा करेंगे।

दमोह के महाराणा प्रताप स्कूल के मैदान में कांग्रेस ने आम सभा का आयोजन किया है। यहां कमलनाथ जनता को संबोधित करेंगे। स्थानीय राजनीतिक समीकरणों को देखते हुए संभव कमलनाथ यह सभा दिलचस्प होने की उम्मीद है।

इस बीच सबसे ज्यादा चर्चा में अगर कोई नाम है तो वह है राहुल सिंह लोधी का जो इस बार भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रत्याशी हैं। यह भी दिलचस्प है कि राहुल सिंह लोधी मौजूदा मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री दोनों के ही पसंदीदा रहे हैं।

राहुल सिंह लोधी, पूर्व विधायक, दमोह

बकौल राहुल सिंह लोधी कमलनाथ का उन पर उनके पिता तुल्य आशीर्वाद रहा है और कमलनाथ में ही उन पर भरोसा कर उन्हें टिकट दिया था। ऐसे में तब वे कमलनाथ की पहली पसंद थे। वहीं अब राहुल सिंह लोधी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की पहली पसंद हैं क्योंकि उन्हें पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया से आगे लाकर टिकट दी गई और राज्यमंत्री तो वे पहले ही बनाए जा चुके थे। सीएम शिवराज पहले ही कह चुके हैं कि राहुल ने दमोह के विकास के लिए विधायकी का बलिदान दिया है।

कांग्रेस पार्टी छोड़ने से पहले राहुल सिंह लोधी बड़े-बड़े दावे कर चुके थे और अब उनकी यही दावे उनके लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं। दरअसल दमोह क्षेत्र में उनके पुराने वीडियो लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं। जिनमें से पार्टी और कमलनाथ से कभी धोखा ना देने की कसमें खाते नजर आ रहे हैं। राहुल सिंह के यह वीडियो लगातार वायरल हो रहे हैं। जाहिर है यह राहुल सिंह के खिलाफ हवा बनाने की एक कोशिश है। जिसकी तैयारी पिछले कई दिनों से जारी थी।

कमलनाथ अपनी रैली में भी इसका जिक्र जरूर करेंगे क्योंकि राहुल सिंह ही आखरी विधायक थे जो सरकार गिरने के बाद भी कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में गए और पद तथा चुनावों का टिकट दोनों हांसिल किया।

हालांकि अजय टंडन की बात करें तो वह जिले में कांग्रेस की राजनीति का एक महत्वपूर्ण ध्रुव रहे हैं लेकिन चुनावी जीत अब तक उनके खाते में नहीं आई है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर उनकी इसी कमजोरी को भुनाने का प्रयास कर रही है। इसके लिए भूपेंद्र सिंह और गोपाल भार्गव जैसे अनुभवी मंत्रियों को जिम्मा दिया गया है। इसके अलावा संजय पाठक और कुछ दूसरे नेता भी दमोह में सघन जनसंपर्क कर रहे हैं। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी अपने अंदाज़ में ही राहुल सिंह लोधी के लिए कैंपेनिंग कर रही है।



Related