BJP से कैलाश विजयवर्गीय और जयभान सिंह पवैया जाएंगे राज्यसभा!


— मप्र में तीन राज्यसभा सीटों में से दो भाजपा के खाते में तो एक कांग्रेस को मिलनी है।
— पवैया का नाम तय माना जा रहा है तो वहीं दिल्ली से आ सकता है कैलाश विजयवर्गीय का नाम
— कांग्रेस से वकील विवेक तन्खा का नाम
लगभग तय।


देश गांव
राजनीति Published On :

भोपाल। प्रदेश की तीर राज्यसभा सीटें 29 जून को खाली होने वाली हैं। ऐसे में दोनों प्रमुख दल अपनी पूरी तैयारी कर रहे हैं। विधानसभा में गणित के आधार पर इनमें से एक सीट कांग्रेस को तो दो भाजपा को मिलने जा रहीं हैं। भाजपा की ओर से एक उम्मीदवार लगभग तय हो चुका है। इस बार पार्टी ने बजरंग दल से आने वाले जयभान सिंह पवैया को राज्यसभा पहुंचाने का मन बनाया है।

वहीं दूसरी सीट पर उम्मीदवार का फैसला दिल्ली से लिया जाएगा। इनमें राष्ट्रीय संगठन में लंबे समय से महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे कैलाश विजयवर्गीय का हो सकता है। विजयवर्गीय, विधायक रहते हुए भाजपा महासचिव बने और वे अब तक इस पद पर बने हुए हैं।  विजयवर्गीय को कई प्रदेशों  में प्रभारी बनाया गया और इस दौरान पार्टी के अच्छे प्रदर्शन में उनकी भूमिका सबसे अहम रही है। हालांकि मप्र में नेतृत्व परिवर्तन की खबरें भी पहले आईं थीं और यह भी कहा गया कि कैलाश को अब प्रदेश की ज़िम्मेदारी भी दी सकती है। हालांकि इन बातों पर पार्टी के किसी नेता की ओर से कोई ठोस बयान नहीं आए हैं।

वहीं कांग्रेस की बात करें तो पेशे से वकील और मौजूदा राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा को ही दोबारा राज्यसभा में भेजने की तैयारी है। तन्खा को पहले छत्तीसगढ़ से चुनाव लड़ाने की तैयारी थी लेकिन वे मप्र के मामलों को लेकर लगातार सक्रिय बने हुए हैं। ऐसे में पार्टी के वरिष्ठ नेता उन्हें एमपी से ही राज्यसभा में देखना चाहते हैं इस बीच गुलाम नबी आज़ाद को भी राज्यसभा भेजने की खबरें आ रहीं हैं।

विधानसभा में दलों की स्थिति की बात करें तो फिलहाल प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों में भाजपा के पास 127, कांग्रेस के पास 96, बसपा के पास 2, सपा के पास 1 और 4 निर्दलीय विधायक हैं।

इस तरह होगा चुनाव…

इन तीनों सीटों को के लिए चुनाव दस जून को कराया जाएगा। चुनाव की अधिसूचना मंगलवार को रिटर्निंग आफिसर विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह द्वारा जारी की जाएगी। इसके साथ ही नामांकन पत्र जमा करने का काम शुरु हो जाएगा। नामांकन पत्रों की जांच एक जून को होगी और तीन जून तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार 31 मई तक नामांकन पत्र स्वीकार किए जाएंगे। यदि मतदान की नौबत आई तो दस जून को सुबह नौ से चार बजे तक मतदान कराया जाएगा। इसके एक घंटे बाद पांच बजे से गिनती शुरु होगी और इसी दिन परिणाम भी घोषित कर दिया जाएगा। चुनाव के लिए पूरी प्रक्रिया विधानसभा के समिति कक्ष में होगी।



Related