किसान चाहे तो सत्ता पलट सकता है… केसीआर


कार्यक्रम में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, ” दिल्ली सरकार ने आंदोलनरत किसानों की मदद की। उनको पीने का साफ पानी दिया, शौचालय की सुविधा दी, लंगर में खाना खिलाया। हमें खुशी है कि हमने किसान भाइयों की मदद की। हमने वो सब किया जो हम कर सकते थे।”


देश गांव
राजनीति Updated On :

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी शासित राज्यों का चंडीगढ़ में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम में पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव भी शामिल हुए। यहां किसान यूनियन के नेता और किसान आंदोलन का प्रमुख चेहरा रहे राकेश टिकैत भी पहुंचे थे। यहां सभी नेताओं ने खुद को किसानों का हितैषी दिखाने की पूरी कोशिश की।

सीएम केसीआर ने यहां किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले सभी किसानों को तीन तीन लाख रु की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि किसान चाहे तो सत्ता पलट सकता है।

केसीआर ने केजरीवाल के किसानों के प्रति रूख़ की तारीफ़ करते हुए कहा कि केजरीवाल भाग्यशाली रहे कि उन्हें ऐतिहासिक किसान आंदोलन के समय किसानों की सेवा करने का मौका मिला। उन्होंने कहा आंदोलन के दौरान जिनकी जान गई उन्हें वापस तो नहीं लाया जा सकता लेकिन वे उनके परिवारों के साथ हैं।

कार्यक्रम में दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान आंदोलन के दौरान केंद्र सरकार के रवैए को याद करते हुए कहा कि सरकार चाहती थी कि आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली आए किसानों को स्टेडियमों में अस्थायी जेल बनाकर रखा जाए। केजरीवाल ने कहा, ” मैं भी एक आंदोलन, अन्ना आंदोलन से उभर कर आया हूं। उस समय हमारे साथ भी ऐसा ही किया गया था। वे हमें स्टेडियम में रखते थे। मैं भी कई दिनों तक स्टेडियम में रहा। मैं समझ गया कि किसान आंदोलन को समाप्त करने के लिए यह एक चाल है।”

उन्होंने कहा, ” अगर दिल्ली में घुसने वाले किसानों को स्टेडियमों में डिटेन कर लिया गया होता, तो किसान आंदोलन एक स्टेडियम तक सीमित हो जाता। लेकिन हमने ऐसा करने से इनकार कर दिया. हमने कहा कि हम स्टेडियमों को जेल में नहीं बदलेंगे। वे (केंद्र) इतने गुस्से में थे, लेकिन हम किसानों के साथ खड़े थे।”

केजरीवाल ने कहा, ” दिल्ली सरकार ने आंदोलनरत किसानों की मदद की। उनको पीने का साफ पानी दिया, शौचालय की सुविधा दी, लंगर में खाना खिलाया। हमें खुशी है कि हमने किसान भाइयों की मदद की। हमने वो सब किया जो हम कर सकते थे।”

उल्लेखनीय है तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर इन दिनों देशभर में राजनीतिक दौरे कर रहे हैं। शनिवार को उन्होंने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। केसीआर भाजपा और कांग्रेस के एक राजनीतिक मोर्चा बनाने पर ज़ोर दे रहे हैं।

 



Related