सिंधिया के बाद इस बार उमा भारती ने कह दी सड़क पर उतरने की बात, फिर उठी है शराबबंदी की मांग


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को एक तरह से अल्टीमेटम दे दिया है कि  अगर 15 जनवरी तक प्रदेश में शराब बंदी लागू नहीं होगी तो वे सड़कों पर उतर आएंगी।


देश गांव
राजनीति Updated On :

भोपाल। मध्यप्रदेश की सियासत में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अक्सर चर्चाओं में आती रहती हैं। हालांकि अब वे केवल शराबबंदी की मांग को लेकर सुर्खियों  में आती हैं। एक बार फिर उमा भारती ने शराबबंदी की मांग की है और वे सुर्ख़ियों में हैं।

इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को एक तरह से अल्टीमेटम दे दिया है कि  अगर 15 जनवरी तक प्रदेश में शराब बंदी लागू नहीं होगी तो वे सड़कों पर उतर आएंगी।

मध्यप्रदेश की राजनीति में सड़क पर उतरने का बयान  करीब दो साल पहले हलचल ला चुका है। उस समय तब के कांग्रेसी और अब भाजपा के केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने  ऐसा बयान दिया था।

जिस पर उस समय के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें टका सा जबाव दे दिया था  और इसके बाद  सिंधिया नाराज हो गए और उन्होंने सरकार गिरा दी।

ऐसे में इस बार फिर बहुत कुछ इस मांग पर मुख्यमंत्री के जवाब पर निर्भर है। हालांकि उमा भारती की इस मांग को फिलहाल कोई भी गंभीरता से लेते नज़र नहीं आ रहा है। भाजपा नेताओं को भरोसा है कि मुख्यमंत्री शिवराज हर बार की तरह उमा को मना लेंगे और उमा न चाहते हुए भी मान जाएंगी।

इस उमा भारती के इस बयान से आगे की राजनीति में कुछ खास हलचल होगी या नहीं  यह फिलहाल तय नहीं है क्योंकि पहले भी कई बार वे ऐसी मांगें उठाती रहीं हैं। हालांकि उन्होंने 15 जनवरी तक की सीमा ही क्यों दी इस पर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

हालांकि कांग्रेस भाजपा नेता की इस मांग को लेकर लगातार सक्रिय बनी हुई है। सोशल मीडिया पर इस मांग को लेकर कांग्रेसी नेता लगातार चुटकी ले रहे हैं।

 

इससे पहले उमा भारती ने शराबबंदी को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा से भी अनुरोध भी किया था। उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा था कि ‘मैं सार्वजनिक अपील करती हूं कि बीजेपी शासित राज्यों में शराबबंदी की तैयारी करिये।

बिहार में शराबबंदी का उदाहरण देते हुए उमा भारती ने कहा था कि राजनीतिक दलों को चुनाव जीतने का दबाव रहता है। बिहार में बीजेपी की जीत यह साबित करती है कि शराबबंदी के कारण ही महिलाओं ने एकतरफा वोट नीतीश कुमार को दिया है।



Related