मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों में मिले 11045 कोरोना संक्रमित व 60 की हुई मौत


सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 11045 नए मरीज मिले हैं और 60 मरीजों की मौत इस बीमारी से हुई है।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :
corona-madhya-pradesh

भोपाल/इंदौर। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के बीच सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 11045 नए मरीज मिले हैं और 60 मरीजों की मौत इस बीमारी से हुई है।

गुरुवार को 49900 सैंपलों की जांच की गई थी, जिसमें इतने मरीज मिले हैं। इस तरह संक्रमण दर 22 फीसदी हो गया है यानी अब जांच कराने वाले 9 व्‍यक्तियों में से दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है।

बुधवार को जारी कोरोना के मेडिकल बुलेटिन में बताए गए आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार 14 अप्रैल को इंदौर जिले में 9059 सैंपल जांचे गए। इनमें 1693 नए संक्रमित मिले हैं। यह संख्या अब तक मिले संकेतों में सबसे ज्यादा है।

बुधवार को छह कोरोना संक्रमितों की मौत हुई जिसके बाद इंदौर में मृतकों की कुल संख्या 1023 हो चुकी है। वहीं भोपाल में 1637 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यहां कुल 6500 सैंपल जांचे गए थे। इस दौरान आठ लोगों की मौत भी हुई है।

इससे पहले बुधवार को प्रदेश में 10166 मरीज मिले थे और संक्रमण दर 21 फीसदी पाई गई थी। इस तरह एक ही दिन में नए मिलने वाले मरीजों की तादाद 879 तक बढ़ गई।

इस तरह से प्रदेश में एक्टिव केस 59183 हो गए हैं। इसमें से 39847 केस पिछले 15 दिनों में मिले हैं। पिछले साल सितंबर के 15 दिनों में 7286 केस मिले थे यानी करीब एक्टिव केस भी करीब 6 गुना बढ़ गए हैं।

यही वजह है कि प्रदेश के कई शहरों के अस्पतालों में बेड नहीं है। अगर कहीं खाली भी हैं तो वहां ऑक्सीजन की कमी। यदि किसी तरह ऑक्सीजन का इंतजाम हो भी जाए तो आईसीयू में एक भी बेड खाली नहीं हैं। सरकार अब कोविड केयर सेंटर के अलावा सरकारी भवनों में इलाज का इंतजाम कर रही है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े देखें तो कोरोना की पहली लहर से दूसरी लहर तीन गुना से भी ज्यादा तेजी से संक्रमण फैला रही है। पहली लहर में 1 से 15 सितंबर तक 26139 लोग संक्रमित हुए थे, लेकिन दूसरी लहर में 1 से 15 अप्रैल के बीच कोरोना ने 84179 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है।

यदि मौतों की तुलना करें तो अब तक 4425 लोग जान गंवा चुके हैं। इसमें पिछले 24 घंटे में हुई 60 मौतें भी शामिल हैं। पहली लहर में 367 मौतें हुई थीं लेकिन दूसरी लहर में 411 की जान गई।



Related