महाराष्ट्र में भारी बारिश व बाढ़ से अब तक 136 की मौत, 6 जिलों के लिए मौसम विभाग का रेड अलर्ट


महाराष्ट्र में शनिवार को भी बारिश का कहर जारी है और गुरुवार शाम से लेकर अब तक बारिश व बाढ़ की वजह से अलग-अलग घटनाओं में 136 लोगों की मौत हो चुकी है।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
maharashtra-flood

मुंबई। महाराष्ट्र में शनिवार को भी बारिश का कहर जारी है और गुरुवार शाम से लेकर अब तक बारिश व बाढ़ की वजह से अलग-अलग घटनाओं में 136 लोगों की मौत हो चुकी है।

बारिश व बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर जिलों से 8 हजार से ज्यादा लोगों को एनडीआरएफ, नेवी और आर्मी ने रेस्क्यू किया है। 200 से ज्यादा गांवों का प्रमुख इलाकों से संपर्क टूट गया है।

मौसम विभाग ने 6 जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने अगले 24 घंटों के लिए रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, पुणे, सतारा और कोल्हापुर जिलों में भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है।

इन 6 जिलों में एनडीआरएफ की 18 टीमों को तैनात किया गया है। 8 टीमें अलर्ट पर हैं। 2 टीमें रायगढ़ में शुक्रवार को हुई लैंड स्लाइड वाली जगह पर रेस्क्यू में जुटी हैं। इसके अलावा रायगढ़ में नेवी और कोल्हापुर, रत्नागिरी में आर्मी की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी ने कहा कि सबसे ज्यादा मौते रायगढ़ और सतारा जिलों में हुई है। उन्होंने कहा कि भूस्खलन के अलावा कई लोग बाढ़ में बह गए। रायगढ़ जिले में गुरुवार शाम महाड़ तहसील के तलाई गांव के पास भूस्खलन हुआ है।

भारी बारिश की वजह से महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में भूस्खलन से मरने वालों की संख्या 44 हो गई है। शुक्रवार को तलाई गांव से 32 शव बरामद हुए, जबकि अन्य आसपास के गांव में मिले। प्रशासन ने यहां एनडीआरएफ के साथ मिलकर बचाव व राहत कार्य तेज कर दिया है।

लैंडस्लाइड से जान गंवाने वालों के परिजन को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 5-5 लाख और केंद्र ने 2-2 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है। घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी।

कोल्हापुर के कई हिस्सों में सड़कों पर पानी भर गया है। कोंकण रेल मार्ग शनिवार से फिर शुरू हो गया है। पटरियां पानी में डूबने की वजह से शुक्रवार को इस पर ट्रेनों की आवाजाही बंद कर दी गई थी।

महाड़ में बाढ़ का पानी तो निकल गया है, लेकिन अभी भी तबाही के निशान सड़कों पर नजर आ रहे हैं। भारी बारिश के कारण किणी टोल प्लाजा के पास पुणे-बेंगलुरु हाईवे बंद है। इस पर 20 किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार नजर आ रही है।



Related