शिवराज सरकार का फैसला: भोपाल, इंदौर, ग्वालियर व जबलपुर में बनेंगे 2000 बिस्तर के कोविड अस्पताल


भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में दो-दो हजार बिस्तरों वाले विशेष कोविड अस्पताल खोले जाएंगे, जिसमें स्वयंसेवी संस्थाओं से मदद ली जाएगी। इसके साथ ही सरकार ने गरीबों (बीपीएल कार्डधारी) को तीन महीने तक फ्री राशन देने का भी फैसला किया है।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

भोपाल। कोरोना संक्रमण को रोकने को लेकर लगातार आलोचना झेल रही शिवराज सरकार ने अब एक बड़ा फैसला किया है। सरकार ने ऐलान किया है कि प्रदेश के चार बड़े शहरों इंदौर भोपाल ग्वालियर और जबलपुर में दो हजार बेड के अस्पताल खोले जाएंगे। हालांकि यह कब तक बनकर तैयार होंगे यह साफ नहीं है।

इसके अलावा सरकार गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को तीन महीने तक मुफ्त में राशन देगी और करीब दो करोड़ परिवारों को काड़ा दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि सरकार ने पिछले साल जो काड़ा बांटा था उसमें तीस करोड़ रुपये खर्च किए गए थे।

मुख्यमंत्री सोमवार को सभी जिला कलेक्टरों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।  उन्होंने सभी कलेक्टरों से कोरोना कर्फ्यू का गंभीरता से पालन करवाने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने जनता से अपील की है कि 30 अप्रैल तक बिना वजह भी अपने घरों से बाहर ना निकलें। इसके अलावा उन्होंने कोरोना की टेस्ट रिपोर्ट 24 घंटों में देने की व्यवस्था बनाने के लिए निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सैंपल देने वाला व्यक्ति बाहर ना घूमे। उन्होंने होम आइसोलेशन की व्यवस्था बेहतर करने के लिए अधिकारियों को कहा है। यही नहीं मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को छूट दी है कि वह अपने क्षेत्रों में जरूरत के मुताबिक कोविड केयर सेंटर बना सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार अपने पैर पसार रहा है बीते 24 घंटों में ही यहां 12897 नए मामले आए हैं। इस दौरान 79 मौतें भी हुई हैं। प्रदेश के चारों  बड़े शहरों में हालात बेकाबू नजर आ रहे हैं। इंदौर में जहां 11 हजार से अधिक सक्रिय संक्रमित हैं तो वहीं भोपाल में बीते 24 घंटों के दौरान ही 1703 नए संक्रमित मिले हैं। यहां संक्रमण की दर चिंताजनक बताई जाती है।

ग्वालियर की बात करें तो यहां पिछले 3 दिनों से लगातार 1000 से अधिक संक्रमित मिल रहे हैं। यहां संक्रमण की दर करीब 45% से ज्यादा है। वहीं जबलपुर में 877 नए मामले सामने आए हैं। यहां के विक्टोरिया अस्पताल में पिछले 18 घंटों में 15 संक्रमित होने दम तोड़ दिया। दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार रविवार को जबलपुर में 72 शवों का दाह कोविड प्रोटोकॉल के तहत किया गया।



Related