तीन मंत्री कोरोना संक्रमित, इंदौर-भोपाल बन रहे हैं हॉट स्पॉट


इंदौर में चौबीस घंटों के दौरान 1291  और भोपाल में 1008 नए संक्रमित मिले हैं।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या रोज़ाना बढ़ रही है। गुरुवार को इसमें शासन के तीन मंत्री भी जुड़ गए।चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, पीएचई मंत्री तुलसी सिलावट और कृषि मंत्री कमल पटेल तीनों ने अपने संक्रमित होने की जानकारी दी।

इसके बाद से चिंता और बढ़ गई है क्योंकि पिछले कुछ दिनों में ये मंत्री कई सार्वजनिक कार्यक्रमों में जाते रहे हैं और मंत्री कमल पटेल और तुलसी सिलावट तो सघन जनसंपर्क में रहे हैं। ये दोनों ही मंत्री पिछले करीब तीन दिनों से अपने क्षेत्रों में लगातार लोगों से मिलते रहे और कार्यक्रमों में भाग भी लेते रहे हैं।

मंत्री कमल पटेल ने तो बच्चों के साथ सूर्य नमस्कार किया और तुलसी सिलावट कई सार्वजनिक कार्यक्रमों में भाग लेते दिखाई दिये हैं।  ऐसे में अब इन मंत्रियों के कार्यक्रमों में शामिल लोगों को भी अपनी फिक्र हो रही है।

इसके अलावा प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में भी लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें कांग्रेस उपाध्यक्ष, चंद्रप्रभा शेखर, प्रकाश जैन और मीडिया को-ऑर्डिनेटर पीयूष बबेले कोरोना संक्रमित हैं।

इसके साथ ही गुरुवार को भी कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में कोई राहत नज़र नहीं आई है। इंदौर में चौबीस घंटों के दौरान 1291  और भोपाल में 1008 नए संक्रमित मिले हैं। यह संख्या दोनों ही शहरों में एक दिन पहले मिले संक्रमितों से अधिक है।

ऐसे में साफ है कि बड़े शहरों में हर दिन संक्रमित बढ़ रहे हैं। संक्रमण को भले ही ज्यादा खतरनाक न बताया जा रहा हो लेकिन इससे मौतें हो रहीं हैं। गुरुवार को जबलपुर में तीन, ग्वालियर में दो और विदिशा में एक कोरोना संक्रमित की मौत की ख़बर आई। इसके अलावा ग्वालियर में 570, जबलपुर में 349 और सागर में 263 नए संक्रमित मिले हैं।

संक्रमण की चपेट में हर कोई आ रहा है। प्रदेश के कई अधिकारी और कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं। गुरुवार को एक कमिश्नर भी संक्रमित पाए जाने की खबर है। हालात बिगड़ने से बचाने के लिए डॉक्टरों, नर्सों और मेडिकल स्टाफ को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है और प्रदेश में एस्मा एक्ट लागू कर दिया गया है।

संक्रमित हो रहे पुलिसकर्मियों की संख्या भी लगातार ही बढ़ रही है।  गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 80 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। अब तक 227  कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। ऐसे में जेल में कैदियों से परिजन की मुलाकात पर 31 मार्च तक रोक लगा दी गई है।

कोरोना के कारण बन रहीं इन विकट परिस्थितियों को लेकर शासन परेशान है।  इस पर  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  शुक्रवार को क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक करेंगे।  इस बैठक में सभी मंत्रियों, कलेक्टरों, कमिश्नरों और गांव के नेताओं तक से चर्चा की जाएगी।  इसमें सभी मंत्री, जनप्रतिनिधि, सांसद, विधायक, संभागायुक्त, जिला कलेक्टर, ग्राम स्तरीय अधिकारियों को शामिल होने के निर्देश दिए गए हैं। संभावना है कि बैठक में सख्ती बढ़ाने पर चर्चा की जा सकती है।



Related