डॉ.मनमोहन सिंह, असाधारण पीएम थे लेकिन उनके दौर में ठहर गया था भारत : नारायण मूर्ति


नारायण मूर्ति IIM अहमदाबाद में छात्रों और युवा उद्यमियों से बात कर रहे थे, अपनी इस राय के लिए उन्होंने कुछ उदाहरण भी दिए।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

भोपाल। देश की दिग्गज आईटी कंपनी इंफोसिस के सह संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति ने मोदी सरकार की तारीफ की है। वे आईआईएम अहमदाबाद में युवा उद्यमियों और छात्रों से बातचीत के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इसमें कोई दो राय नहीं कि UPA सरकार के दौरान मनमोहन सिंह एक बेजोड़ प्रधानमंत्री थे लेकिन उस दौरान भारत में आर्थिक गतिविधियां लगभग ठहर गई थी और निर्णय लेने में होने वाली देरी इसका अहम कारण थी।

मौजूदा दौर में उन्होंने भारतीय युवाओं पर भरोसा जताया और उन्होंने कहा कि युवा दिमाग भारत को चीन का एक योग्य प्रतिस्पर्धी बना सकता है।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ”मैं लंदन में (2008 और 2012 के बीच) एचएसबीसी के बोर्ड में था। पहले कुछ वर्षों में, जब बोर्डरूम (बैठकों के दौरान) में चीन का दो से तीन बार उल्लेख किया गया, तो भारत का नाम एक बार आता था।” मूर्ति ने आगे कहा, ”लेकिन दुर्भाग्य से, मुझे नहीं पता कि बाद में (भारत के साथ) क्या हुआ. (पूर्व पीएम) मनमोहन सिंह एक असाधारण व्यक्ति थे और मेरे मन में उनके लिए बहुत सम्मान है। लेकिन संप्रग के दौर में भारत ठहर गया था. निर्णय नहीं लिए जा रहे थे।”

जब उन्होंने एचएसबीसी (2012 में) छोड़ा, तो बैठकों के दौरान भारत का नाम शायद ही कभी आता था, जबकि चीन का नाम लगभग 30 बार लिया गया। मूर्ति ने कहा कि आज दुनिया में भारत के लिए सम्मान का भाव है और देश अब दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।

 

उक्त लेख एनडीटीवी इंडिया की वेबसाइट से लिया गया है। 



Related