कोरोना संक्रमण बढ़ता देख सरकार हुई सख्त, बिना मास्क वालों को नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल


सरकार ने अब मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल-डीजल नहीं देने का भी निर्णय लिया है। इस संबंध में निर्देश जारी किए जा रहे हैं।


देश गांव
बड़ी बात Published On :
no petrol diesel without masks

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले जिस तेजी से बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए अब प्रदेश की शिवराज सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। सरकार ने पहले सार्वजनिक स्थानों पर बगैर मास्क घूमने वालों से जुर्माना वसूलने का आदेश जारी किया था।

अब प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि सरकार ने अब मास्क नहीं लगाने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल-डीजल नहीं देने का भी निर्णय लिया है। इस संबंध में निर्देश जारी किए जा रहे हैं।

गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि प्रदेश में अभी लॉकडाउन या कर्फ्यू लगाने का कोई विचार नहीं है और न ही ऐसा कोई प्रस्ताव गृह विभाग के पास विचाराधीन है।

कोरोना की तीसरी लहर की परिस्थितियां पहली और दूसरी लहर से थोड़ा अलग हैं। अधिकांश लोगों को वैक्सीन लगी होने से संक्रमित तेजी से रिकवरी कर रहे हैं।

मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 1320 नए मामले सामने आए हैं। 68,707 लोगों की जांच की गई थी जिसमें से यह आंकड़ा सामने आया है।

प्रदेश में 13 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। इनमें से छह ग्वालियर एवं एक दतिया में है इसलिए अब कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाएगा।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब 3780 एक्टिव केस हैं और 169 लोग ठीक होकर घर लौटे हैं। प्रदेश में संक्रमण दर 1.94 प्रतिशत हो गई है। वहीं रिकवरी दर 97.9 प्रतिशत है।

उन्होंने बताया कि बगैर मास्क पेट्रोल-डीजल नहीं देने के संबंध में जल्द निर्देश जारी किए जा रहे हैं। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वालों को लेकर सख्ती बढ़ाई जा रही है। सरकार कभी भी भोपाल और इंदौर में खुली जेल शुरू कर सकती है।

गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने दो दिन पहले मास्क नहीं लगाने और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वालों पर सख्ती बरतने के लिए खुली जेल की घोषणा की थी।



Related