आज़ादी की 75 वीं वर्षगांठ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फहराया तिरंगा और दिया एक मजबूत संदेश


प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार को लेकर भी एक संदेश दिया उन्होंने कहा भ्रष्टाचार देश को दीमक की तरह खोखला कर रहा है, उससे देश को लड़ना ही होगा। हमारी कोशिश है कि जिन्होंने देश को लूटा है, उनको लौटाना भी पड़े, हम इसकी कोशिश कर रहे हैं।


देश गांव
बड़ी बात Updated On :

नई दिल्ली। देश अपनी आजादी की 75 की सालगिरह आज मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 7:30 बजे लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया।

देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज एक ऐतिहासिक दिन है। एक पुण्य पड़ाव, एक नई राह, एक नए संकल्प और नए सामर्थ्य के साथ कदम बढ़ाने का यह शुभ अवसर है। आजादी की जंग में गुलामी का पूरा कालखंड संघर्ष में बीता है। भारत का कोई कोना ऐसा नहीं था, जब देशवासियों ने सैकड़ों सालों तक गुलामी के खिलाफ जंग न की हो। जीवन न खपाया हो, आहुति न दी हो। आज हम सब देशवासियों के लिए ऐसे हर महापुरुष के लिए नमन करने का अवसर है। उनका स्मरण करते हुए उनके सपनों को पूरा करने के लिए संकल्प लेने का भी अवसर है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि, ‘आज हम सभी कृतज्ञ हैं पूज्य बापू के, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहब आंबेडकर, वीर सावरकर के… जिन्होंने कर्तव्य पथ पर जीवन को खपा दिया। यह देश कृतज्ञ है मंगल पांडे, तात्या टोपे, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद, अशफाक उल्ला खां, राम प्रसाद बिस्मिल। ऐसे क्रांतिकारियों ने अंग्रेजी हुकूमत की नींव हिला दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में महिलाओं के सम्मान की बात भी कही।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं भाई भतीजावाद, परिवारवाद की बात करता हूं तो लोगों को लगता है मैं सिर्फ राजनीतिक क्षेत्र की बात कर रहा हूं। दुर्भाग्य से राजनीति की इस बुराई ने हिन्दुस्तान की सभी संस्थाओं में परिवारवाद को पोषित कर दिया है। इससे मेरे देश की प्रतिभा को नुकसान होता है।

प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार को लेकर भी एक संदेश दिया उन्होंने कहा भ्रष्टाचार देश को दीमक की तरह खोखला कर रहा है, उससे देश को लड़ना ही होगा। हमारी कोशिश है कि जिन्होंने देश को लूटा है, उनको लौटाना भी पड़े, हम इसकी कोशिश कर रहे हैं।

इसी बात को आगे बढ़ाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग पिछली सरकारों में देश को लूटकर भाग गए, उनकी संपत्तियां ज़ब्त करके वापिस लाने की कोशिश कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि जिन्होंने देश को लूटा है उन्हें लौटाना पड़े वो स्थिति हम पैदा कर रहे हैं। हम भ्रष्टाचार के खिलाफ एक निर्णायक कालखंड में कदम रख रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि इस वर्ष स्वतंत्र दिवस के इस प्रमुख कार्यक्रम में करीब सात हज़ार मेहमान शामिल हो रहे हैं। कार्यक्रम क्षेत्र में करीब 10000 से अधिक पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। इसके अलावा आसमान की ओर से आने वाले किसी भी खतरे पर भी पुलिस की पैनी नजर है।

 



Related