मोरबी में मातम: कांग्रेस नेता पहुंचे घटनास्थल पर, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने की जांच की मांग


इलाके में पसरा मातम, राहुल गांधी ने की हादसे पर राजनीति न करने की बात, घड़ी बनाने वाली कंपनी को मिला था पुल मेंटेनेंस का काम


देश गांव
बड़ी बात Published On :

भोपाल।  गुजरात के मोरबी में रविवार शाम अचानक पुल टूट जाने के कारण अब तक 140 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। हादसे के कारण कांग्रेस ने राज्य में अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं।

वहीं हादसे में जो सबसे चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक पुल के मेंटेनेंस का ठेका ओरेवा कंपनी को दिया गया था उसी उसकी विशेषज्ञता घड़ी और इलेक्ट्रिक स्कूटर बनाने में है।

इस कंपनी को अगले 15 वर्षों के लिए पुल के मेंटेनेंस का ठेके मोरबी नगर पालिका द्वारा दिया गया था। कंपनी इसके बदले यहां आने वाले लोगों से टिकिट लेती है। फिलहाल इस टिकिट का दाम 17 रु है।

इस संबंध में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें ओरेवा कंपनी के मैनेजर के अलावा उसके भाई, पुल पर मरम्मत करने वाली टीम के सदस्य, पुल पर लगे तीन सिक्योरिटी गार्ड और टिकट कलेक्टर हैं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के कार्यक्रम के दौरान मामले की जिम्मेदारी के संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब नहीं दिया और कहा कि वे इस मामले में राजनीति नहीं करना चाहते।

राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए हैं कि आप सभी रेस्क्यू ऑपरेशन में प्रशासन का सहयोग करें। इसके अलावा युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता पूरी रात प्रशासन और रेस्क्यू टीम के साथ लोगों की मदद करते रहे।

वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत घटनास्थल पर पहुंचे थे। वहीं, प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में होकर भी मौके पर नहीं पहुंचे। उन्होंने आज भी चुनावी कैंपेन ही जारी रखा।

राज्य में विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस गुजरात में सोमवार से “परिवर्तन संकल्प यात्रा” शुरू करने वाली थी। पांच क्षेत्रों से निकलने वाले इस यात्रा की तैयारियां पूरी हो चुकी थी। दिग्विजय सिंह भुज से इस यात्रा की शुरूआत करने वाले थे। उनके अलावा सचिन पायलट का भी जनसभा को संबोधित करना प्रस्तावित था।

लेकिन हादसे की जानकारी मिलते ही पार्टी ने सभी कार्यक्रम स्थागित कर दिए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और अशोक गहलोत  घटनास्थल पर पहुंचे और वहां का हालात जाना। अशोक गहलोत ने हादसे की जांच की मांग की।

इस त्रासद हादसे के बाद सोमवार को मोरबी में दुकानें बंद रहीं और इलाके में मातम पसरा रहा। नदी से निकलते शवों को देखकर लोग बिलख बिलख कर रो रहे थे।



Related