रेसलर्स ने कुश्ती संघ अध्यक्ष की जांच के लिए बनी समिति पर उठाए सवाल, कहा समिति के गठन से पहले हमें भरोसे में नहीं लिया


फिर नाराज़ हुए रेसलर्स, जांच समिति को भंग करने की मांग


देश गांव
बड़ी बात Published On :

नई दिल्ली। देश के नामी पहलवान जंतर मंतर से फिलहात तो उठ गए लेकिन भारतीय कुश्ती संघ में शुरु हुआ विवाद खत्म नहीं हो रहा है। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के आश्वासन पर धरने से उठे रेसलर्स एक बार फिर आरोप लगा रहे हैं कि उनसे जो कहा गया था वह नहीं किया गया। रेसलर्स का कहना है कि  खेल मंत्रालय ने इस मामले की जांच के लिए एक निगरानी समिति का गठन कर दिया है लेकिन इसमें उनसे कोई बात नहीं की गई है जबकि उन्हें इसका आश्वासन दिया गया था। अब पहलवान निगरानी समिति को भंग करने की मांग कर रहे हैं।

इस ओवर साइट समिति का गठन हो चुका है और इस समिति के बनाए जाने से पहले रेसलर्स से कोई बात नहीं की गई है। ऐसे में इन रेसलर्स ने हैरानी और निराशा दोनों जताई है। इस बारे में रेसलर्स ने कहा कि ओवर साइट कमेटी का गठन रेसलर्स के परामर्श के बाद होना था लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पहलवान बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट ने इस कमेटी के विरोध में ट्वीट किए हैं। उन्होंने कहा कि हमें आश्वासन दिया गया था कि निगरानी समिति के गठन से पहले हमसे परामर्श किया जाएगा। लेकिन बड़े दुख की बात की है कि इस कमेटी के गठन से पहले हमसे राय तक नहीं ली गई।

 

विनेश फोगाट ने कहा कि हम चाहते हैं कि इस निगरानी समिति को भंग कर दिया जाए। इतना ही नहीं, उन्होंने मांग की कि सरकार एक नई समिति का गठन करे। इसके साथ ही जो नई समिति बने उसमें हमारी पसंद के मेंबर्स को शामिल किया जाए। विनेश ने कहा कि यह महिलाओं का मामला है और ये बहुत गंभीर है। हमें उम्मीद है कि मंत्रालय हमारी बात सुनेगा।

दरअसल खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस मामले की जांच के लिए सोमवार को पांच सदस्यीय समिति का गठन किया था जिसकी अध्यक्ष बॉक्सर मैरी कॉम को बनाया गया था। पैनल के अन्य सदस्यों में ओलंपिक पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त, पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी और मिशन ओलंपिक सेल की सदस्य तृप्ति मुरगुंडे, टॉप्स के पूर्व सीईओ राजगोपालन और भारतीय खेल प्राधिकरण (साईं) की पूर्व कार्यकारी निदेशक (टीम) राधिका श्रीमन शामिल हैं। यह समिति ही अगले एक महीने तक डब्ल्यूएफआई के रोजमर्रा के काम को भी देखेगी।

कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर इन रेसलर्स ने गंभीर आरोप लगाए हैं। इनमें यौन शोषण तक के आरोप शामिल हैं। इसके चलते ये रेसलर्स तीन दिनों तक जंतर मंतर पर धरने पर बैठे रहे। इस दौरान इन्हें मनाने के लिए केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर आए। इससे पहले तमाम दूसरे दलों और खिलाड़ियों ने भी इनका सर्मथन किया।



Related