हफ़्तेभर में पूरा होगा ओलावृष्टि से नुकसानी का सर्वे, किसानों के खातों में आएगी राहत राशि


किसानों के मुताबिक सर्वे करने वाले अधिकारी उनके खेतों में पहुंचे तक नहीं हैं और सर्वे रिपोर्ट भी बन चुकी है


देश गांव
उनकी बात Published On :

भोपाल। प्रदेश में ओलावृष्टि के बाद खासा नुकसान हुआ है। सरकार ने किसानों से वादा किया है कि उनकी नुकसानी की भरपाई की जाएगी। इसकी तैयारी शुरु हो चुकी है और अब प्रदेश में नुकसान का सर्वे चल रहा है। अधिकारियों को शासन से अगले एक हफ्ते में सर्वे पूरा करने के निर्देश दिये हैं।  सर्वे की रिपोर्ट राजस्व विभाग मिलने के बाद राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रविधान अनुसार प्रभावित किसानों के खातों में सहायता राशि जमा कर दी जाएगी। आपदा राहत कोष से तात्कालिक सहायता राशि बांटी जाएगी।

इस बारे में राजस्व मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने बताया कि राजस्व, कृषि और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के कर्मचारियों का संयुक्त दल बनाकर सर्वे कराया जा रहा है। सर्वे में पारदर्शिता के लिए पंचनामा बनाकर किसान को देने के निर्देश दिए गए हैं। सरकार के अनुमान के अनुसार प्रदेश में एक लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में फसलों को नुकसान पहुंचा है।

हालांकि इस बीच सर्वे को लेकर कुछ दूसरी ख़बरें भी आ रहीं हैं। मंदसौर, रतलाम और उज्जैन जिलों में ओला वृष्टि से खासा नुकसान हुआ है लेकिन यहां के किसानों के मुताबिक सर्वे करने वाले अधिकारी उनके खेतों में पहुंचे तक नहीं हैं और सर्वे रिपोर्ट भी बन चुकी है और यह रिपार्ट भोपाल भी भेजी जा चुकी है। अब अधिकारियों की इसी रिपोर्ट के आधार पर किसानों को मुआवजा मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि मंदसौर जिले में ओलावृष्टि से किसानों को खासा नुकसान हुआ है। यहां करीब तीस से अधिक गांवों में सौ प्रतिशत नुकसानी बताई जा रही है। यहां अफीम उत्पादक किसानों के अलावा गेहूं, मैथी, लहसुन और अन्य फसलों को बड़ा नुकसान हुआ है।



Related