बेरोज़गारी के हाल पर सरकार की हो रही किरकिरी, चपरासी-माली के पदों के लिए भी दो लाख आवेदक


इसके तहत प्रदेश के 48 जिलों में 708 पदों के लिए नियुक्ति की जानी है लेकिन इनके लिए दो लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं यानी एक पद के लिए औसतन 274 आवेदक हैं।


देश गांव
उनकी बात Updated On :
jobless youths

ग्वालियर। प्रदेश में बेरोज़गारी की स्थिति क्या है इसका अंदाजा सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन करने वालों की संख्या को देखकर लगाया जा सकता है। इन आवेदनों की स्थिति को देखें तो पता चलता है कि सबसे ज्यादा बेरोज़गार ग्वालियर में हैं।

दैनिक भास्कर की ख़बर के मुताबिक यह बात कोर्ट में माली, चपरासी, ड्राइवर, वॉचमैन और स्वीपर की भर्ती के लिए आए आवेदनों के बाद सामने आई है। इसके तहत प्रदेश के 48 जिलों में 708 पदों के लिए नियुक्ति की जानी है लेकिन इनके लिए दो लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं यानी एक पद के लिए औसतन 274 आवेदक हैं।

इनमें भी सबसे ज्यादा आवेदक ग्वालियर के हैं। यहां एक पद पर 739 आवेदन किए गए हैं। वहीं भोपाल में एक पद पर 613 आवेदन  किये गए हैं। इंदौर में सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले बेरोजगार 1 पद पर 190 हैं, जबकि प्रदेश में सबसे कम पर रायसेन है। यहां 1 पद के लिए सिर्फ 60 लोगों ने आवेदन किया है।

ख़बर के मुताबिक जो पद निकाले गए हैं उनके लिए मासिक वेतन 6500 रुपए से लेकर 12500 रुपए के बीच होगा।  इन पदों के लिए दसवीं तक की पढ़ाई की न्यूनतम योग्यता तय की गई है। हालांकि इन नौकरियों के लिए वे लोग आवेदन कर रहे हैं जिन्होंने शिक्षक और अकाउंटेंट जैसे पदों के लिए पढ़ाई की है।

चौकीदार  के पद के लिये आवेदन करने वाले एक युवक राकेश के मुताबिक वे संविदा शिक्षक पद के लिए तैयारी करते रहे हैं और इसके लिए उन्होंने ज़रुरी B.ED की पढ़ाई भी की है। उनके साथ M.ED किये हुए लोग भी ऐसे ही आवेदन कर रहे हैं। वहीं आवेदन करने वाले ज्यादातर लोग बीकॉम और एमकॉम किए हुए हैं।

प्रदेश के 48 जिलों की बात करें तो यहां 708 पदों पर भर्ती का विज्ञापन जारी किया गया था। इसके लिए प्रदेश से लगभग 2 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किया है। औसतन एक सीट के लिए 274 आवेदन किये गए हैं।



Related