कोविड वार्ड की इंचार्ज स्टाफ नर्स की कोरोना से मौत

देश गांव
घर की बात Updated On :

जबलपुर के नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल की इंचार्ज स्टाफ नर्स सीमा विनीत (46) की कोरोना संक्रमण से बुधवार देर रात बजे मौत हो गई थी। गुरुवार को मेडिकल कॉलेज की सभी नर्स और स्टॉफ के लोग उन्हें अंतिम विदाई देने पहुंचे। उन्होंने एक कार में तिरंगा लगाकर कोरोना वॉरियर स्टाफ नर्स को किसी शहीद की तरह अंतिम विदाई दी। नर्स कोविड वार्ड की इंचार्ज नर्स थीं और मरीजों का इलाज करते-करते वह भी संक्रमित हो गईं थीं।

अस्पताल में कोरोना से स्टाफ नर्स की मौत होने का यह पहला मामला है। कोरोना के लक्षण पाए जाने पर नर्स को पहले रीजनल स्पाइनल इंजरी सेंटर में भर्ती किया गया था। वहां हालत बिगड़ने पर उन्हें सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। सीमा कोविड-19 वार्ड 3 की इंचार्ज थीं। हालांकि कुछ समय ड्यूटी करने के बाद उनको वहां से अन्य वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था।

अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश तिवारी ने कोरोना से शहर के दो चिकित्सकों की मौत के बाद मेडिकल अस्पताल में स्टाफ नर्स सीमा विनीत की मौत हो गई है। मेडिकल अस्पताल में कोरोना से नर्स की मौत का यह पहला मामला है।

नर्स की मौत के बाद नर्सिंग स्टाफ ने 50 लाख का मुआवजा मांगा

स्टाफ नर्स की मौत के बाद आज मेडिकल कॉलेज की तमाम नर्सों ने एकजुट होकर उनकी शवयात्रा निकाली। स्टाफ नर्स की मौत के बाद नर्सिंग स्टाफ ने 50 लाख का मुआवजा मांगा है। साथ ही बेटी को अनुकंपा नियुक्ति देने की मांग की है। मेडिकल कॉलेज नर्सिंग एसोसिएशन ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से कोरोना पीड़ित नर्स को कोरोना योद्धा का सर्टिफिकेट देने की मांग रखी है। नर्सिंग एसोसिएशन की अध्यक्ष हर्षा सोलंकी ने चेतावनी दी है कि अगर राज्य सरकार ये तीनों मांगें नहीं मानी जातीं हैं तो मेडिकल कॉलेज की तमाम नर्सें काम बंद हड़ताल पर चली जाएंगी।



Related