मध्यप्रदेश से भी आंदोलन में शामिल होने जा रहे किसान, एक जत्था रवाना, अगले की तैयारी


शुक्रवार को यहां से कई किसानों का एक जत्था दिल्ली के लिए रवाना हुआ है। ये किसान केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे तीनों कृषि अध्यादेशों का पुरज़ोर विरोध कर रहे हैं। इसके बाद यहां से कुछ और किसानों के भी दिल्ली में आंदोलनरत किसानों के साथ शामिल होने के लिए जाने की संभावना है। 


देश गांव
घर की बात Updated On :

भोपाल। पंजाब, हरियाणा के किसान दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों के सर्मथन में देशभर में कई छोटे-छोटे स्थानों पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। मध्य प्रदेश के श्योपुर में किसान इसे लेकर सबसे ज्यादा संवेदनशील नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को यहां से कई किसानों का एक जत्था दिल्ली के लिए रवाना हुआ है। ये किसान केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे तीनों कृषि अध्यादेशों का पुरज़ोर विरोध कर रहे हैं। इसके बाद यहां से कुछ और किसानों के भी दिल्ली में आंदोलनरत किसानों के साथ शामिल होने के लिए जाने की संभावना है। इन किसानों की गतिविधियों से यहां पुलिस का ख़ूफ़िया विभाग भी सक्रिय है।

 

उल्लेखनीय है कि श्योपुर में किसान आंदोलन की शुरुआत से ही काफी गहमा-गहमी देखी जा रही है। पिछले दिनों जब हरियाणा सरकार के द्वारा किसानों को रोकने के लिए उन पर वॉटर केनन से पानी की बौछार की गई थी तब भी श्योपुर के हजारेश्वर पार्क में किसानों और किसान संगठनों के नेताओं ने जुटकर इसका विरोध किया था।

इन किसानों ने शहर में रैली निकालकर केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश को काला कानून बताकर दिल्ली जा रहे किसानों पर पुलिस द्वारा लाठी-चार्ज किए जाने की घटना का विरोध जताया। इस दौरान किसानों ने  शहर के जयस्तंभ  चौराहे पर केंद्र सरकार का पुतला दहन भी किया। यहां पुलिस ने किसानों को पुतला दहन रोकने की भी कोशिश की थी लेकिन किसान पुतहा फूंकने में कामयाब रहे।  इसके बाद काफी देर तक यहां केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी  जारी रही।



Related