MP: सिलावट को जल संसाधन और राजपूत को परिवहन व राजस्व विभाग फिर से मिला


तुलसी सिलावट को जल संसाधन व मछुआ कल्याण और गोविंद सिंह राजपूत को परिवहन व राजस्व विभाग फिर से दिया गया है। उपचुनाव से पहले दोनों मंत्रियों के पास यही विभाग थे।


Kumar Manish Kumar Manish
घर की बात Updated On :
silawat-rajput-allocated-portfolio

भोपाल। कांग्रेस से भाजपा में आए कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को विभागों का आवंटन कर दिया गया है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग ने सोमवार देर शाम अधिसूचना जारी कर दी।

अधिसूचना के मुताबिक, तुलसी सिलावट को जल संसाधन व मछुआ कल्याण और गोविंद सिंह राजपूत को परिवहन व राजस्व विभाग फिर से दिया गया है। उपचुनाव से पहले दोनों मंत्रियों के पास यही विभाग थे।

बता दें कि सिलावट और राजपूत को रविवार को ही राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने मंत्री पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई थी। इसके साथ ही शिवराज कैबिनेट में अब 30 सदस्य हो गए हैं।

शिवराज कैबिनेट में अब सिंधिया समर्थकों की संख्या आठ हो गई है, जो पहले दस थी लेकिन इमरती देवी व गिर्राज दांडोतिया के उपचुनाव हारने के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था।

कैबिनेट विस्तार से पहले रविवार की सुबह ही दोनों का इस्तीफा मंजूर किया गया था। इन दोनों के अलावा कांग्रेस से भाजपा में आए एदल सिंह कंषाना भी चुनाव हार गए थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चौथी बार सत्ता में आने के बाद से अब तक तीन बार कैबिनेट का विस्तार कर चुके हैं। इसके बावजूद कैबिनेट में अभी भी चार पद खाली हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च 2020 को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद 21 अप्रैल 2020 को केवल पांच मंत्रियों को अपनी टीम में शामिल किया था।

इसके बाद दूसरा कैबिनेट विस्तार 2 जुलाई 2020 को किया गया था, जिसमें 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई थी और अब तीन जनवरी को दो और मंत्री को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल किया गया है।



Related