VIDEO: पिकअप वाहन पलटा और लोग उठा ले गए देशी मुर्गे-मुर्गियां


हादसा देखकर आसपास के ग्रामीण और राहगीर मदद करने की बजाय लगभग 400-500 मुर्गे-मुर्गियां उठाकर ले गए। पिकअप का ड्राइवर मना करता रहा लेकिन लोग नहीं माने।


देश गांव
घर की बात Updated On :
sendhwa-cock-loot
इस तरह से ग्रामीण और राहगीर लूट ले गए मुर्गे।


सेंधवा (बड़वानी)। बड़वानी जिले के पलसूद थाना क्षेत्र के कुशलगढ़ स्टेट हाइवे पर दोंदवाड़ा गांव के समीप सोमवार की सुबह देशी मुर्गे-मुर्गियों से भरा पिकअप वाहन पलट गया।

पिकअप के पलटने की वजह से उसमें भरे मुर्गे-मुर्गियां सड़क पर आ गए, जिसके बाद चिकन के शौकीन आस-पास के ग्रामीण और राहगीरों ने उन पर हाथ साफ कर दिया।

पिकअप के चालक सनाउल्लाह के मुताबिक, महाराष्ट्र के मालेगांव से वह मुर्गे-मुर्गियों को वाहन में भरकर खिलचीपुर ले जा रहा था। इसी दौरान रास्ते में दोंदवाड़ा गांव के समीप अचानक से एक गाय वाहन के सामने आ गई।

गाय को बचाने के चक्कर में वाहन अनियंत्रित होकर पलट गया जिसके कारण मुर्गे-मुर्गियां सड़क पर आ गए।

हादसा देखकर आसपास के ग्रामीण और राहगीर मदद करने की बजाय लगभग 400-500 मुर्गे-मुर्गियां उठाकर ले गए। वह मना करता रहा लेकिन लोग नहीं माने।

sendhwa-cock-loot-2

वहीं, जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती तब तक सैंकड़ों की संख्या में मुर्गे-मुर्गियां लोग ले जा चुके थे।

पिकअप के चालक सनाउल्लाह ने बताया कि

हादसा होने के बाद लोग मदद करने की जगह मुर्गे ले जाने लगे तो उसने उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे लोग उसे ही मारने को दौड़ पड़े। जैसे-तैसे जान बचाकर उसने पुलिस को कॉल किया तो किसी ने उसका कॉल रिसीव नहीं किया।

sendhwa-cock-loot-3

चालक के मुताबिक, करीब डेढ़ लाख रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। एक हजार मुर्गा-मुर्गी में से तकरीबन 500 ही बचे हैं। मौके पर पुलिस के पहुंचने के बाद ग्रामीणों ने मुर्गों की लूट बंद की। पुलिस ने मौका मुआयना कर चालक से जानकारी ली।

sendhwa-cock-loot-5

पलसूद थाना प्रभारी रंजना ठाकुर ने बताया कि

चालक ने कोई सूचना नहीं दी। ग्रामीणों से सूचना पर पुलिस मौके पर गई थी। चालक द्वारा शिकायत नहीं करने से कोई मामला नहीं बनाया गया है। चालक द्वारा कोई लिखित शिकायत नहीं की गई।



Related