मंत्री इमरती देवी पर EC ने लगाई एक दिन की रोक, प्रमोद कृष्णन से मांगा जवाब


पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा छीनने के बाद मंत्री ऊषा ठाकुर और मंत्री मोहन यादव को चेतावनी के नोटिस दिए गए थे। इसके अलावा गिर्राज दंडोतिया और बिसाहूलाल सिंह को भी इसी तरह की चेतावनी दी गई थी।


देश गांव
राजनीति Published On :

भोपाल। उप चुनाव का प्रचार जहां आखिरी दौर में हैं तो वहीं केंद्रीय चुनाव आयोग की कार्रवाई भी जारी है।  आयोग ने अब मंत्री इमरती देवी की अमर्यादित भाषा को देखते हुए आयोग ने उन पर एक दिन तक चुनाव प्रचार के लिए रोक लगा दी है। रविवार को वे किसी तरह की सभा में हिस्सा नहीं लेंगे और ना ही किसी को साक्षात्कार देंगी।

आयोग ने उनके द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज पर की गई टिप्पणी की भाषा को मर्यादित माना है। इसके अलावा कांग्रेस के चुनाव प्रचारक आचार्य प्रमोद कृष्णन को भी आयोग ने नोटिस दिया है। उन्होंने जौरा-मुरैना की एक सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया था। आचार्य कृष्णन से आयोग ने 2 दिनों में जवाब मांगा है।

पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा छीनने के बाद मंत्री ऊषा ठाकुर और मंत्री मोहन यादव को चेतावनी के नोटिस दिए गए थे। इसके अलावा गिर्राज दंडोतिया और बिसाहूलाल सिंह को भी इसी तरह की चेतावनी दी गई थी। हालांकि कांग्रेस इस कार्रवाई से सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है क्योंकि आयोग ने सबसे पहले उनकी ही पार्टी के सबसे बड़े प्रचारक कमलनाथ को निशाना बनाया था। जिसके बाद पार्टी सुप्रीम कोर्ट तक जाने की बात कह चुकी है।