Covid-19: संक्रमण के डर से पति ने बनाई सोशल डिस्टेंसिंग तो पत्नी पहुंच गई कोर्ट


भोपाल लॉ ट्रिब्यूनल में एक ऐसा मामला सामने आया, जिसे सुनकर सब हैरान रह गए। एक पति ने कोरोना संक्रमण के डर से बीवी से सोशल डिस्टेंसिंग बना ली तो बीवी भरण-पोषण का केस लेकर कोर्ट पहुंच गई।


देश गांव
भोपाल Published On :
bhopal-law-tribunal

भोपाल। भोपाल लॉ ट्रिब्यूनल में एक ऐसा मामला सामने आया, जिसे सुनकर सब हैरान रह गए। एक पति ने कोरोना संक्रमण के डर से बीवी से सोशल डिस्टेंसिंग बना ली तो बीवी भरण-पोषण का केस लेकर कोर्ट पहुंच गई।

भोपाल लॉ ट्रिब्यूनल में आए इस केस में मिली जानकारी के मुताबिक, पति ने कोरोना फोबिया के कारण बीवी से दूरी बना ली थी। इससे नाराज होकर महिला पहले तो अपने मायके चली गई और पांच माह बाद उसने भरण-पोषण का मामला दायर कर दिया।

जब मामले में काउंसिलिंग की गई तो पता चला कि पति ने दांपत्य दायित्वों का निर्वाह नहीं किया। इस कारण महिला ने आरोप लगा दिया कि पति दांपत्य संबंध निभाने लायक ही नहीं है।

पत्नी को मनाने के लिए पति को मेडिकल टेस्ट कराके पुरुषत्व का प्रमाण देना पड़ा। मामले में समझौता होने के बाद शुक्रवार को महिला पति के साथ ससुराल चली गई।

दोनों की शादी 29 जून को हुई थी और महिला ने प्राधिकरण में दो दिसंबर को भरण-पोषण का आवेदन दिया था। महिला ने आरोप लगाए थे कि ससुराल वाले उसे परेशान करते हैं। उसकी शादी को पांच माह ही हुए हैं।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव संदीप शर्मा के मुताबिक,

महिला ने पति पर यह झूठे आरोप लगाए थे कि वह दांपत्य संबंध निभाने योग्य नहीं है। काउंसलिंग के दौरान खुलासा हुआ कि पति को कोरोना फोबिया था, जिसकी वजह से वह पत्नी से भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा था। काउंसलर ने महिला को हिदायत दी कि वह आगे से किसी प्रकार के झूठे आरोप नहीं लगाए।

काउंसलिंग के दौरान पति ने बताया कि शादी के बाद ही पत्नी के परिवार वाले कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। उसको लगता था कि हर्ड इम्युनिटी के कारण उसे या पत्नी में कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई दिए।

उसका मानना था कि जब आसपास वाले पॉजिटिव थे, तो हो सकता है कि उसे और पत्नी को भी कोरोना हो सकता है। इसी कारण वह पत्नी के पास जाने से झिझकता था।



Related