कोरोना संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिए डॉक्टर्स के साथ स्क्रीनिंग एवं टेस्टिंग कर रहा है आरएसएस


रविवार 2 मई को शहर के आकृति ग्रीन कॉलोनी में डॉक्टर्स की टीम के साथ स्वयंसेवकों ने रहवासियों, चौकीदारों एवं कामकाजी महिलाओं की स्क्रीनिंग और कोरोना का रैपिड टेस्ट किया। इस रैपिड कोरोना टेस्ट में तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जिन्हें डॉक्टर ने आवश्यक परामर्श दिया।


देश गांव
भोपाल Published On :
rss-corona-screening

– भोपाल में संघ के स्वयंसेवकों ने डॉक्टर्स को साथ लेकर शुरू की स्क्रीनिंग, अन्य सेवा कार्यों का भी कर रहे हैं संचालन।

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कोरोना संक्रमण की श्रृंखंला को तोड़ने के लिए भोपाल के विभिन्न क्षेत्रों में स्क्रीनिंग एवं टेस्टिंग अभियान प्रारंभ किया है।

रविवार 2 मई को शहर के आकृति ग्रीन कॉलोनी में डॉक्टर्स की टीम के साथ स्वयंसेवकों ने रहवासियों, चौकीदारों एवं कामकाजी महिलाओं की स्क्रीनिंग और कोरोना का रैपिड टेस्ट किया। इस रैपिड कोरोना टेस्ट में तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जिन्हें डॉक्टर ने आवश्यक परामर्श दिया।

इस दौरान संघ के स्वयंसेवकों ने लाउडस्पीकर के माध्यम से रहवासियों को जागरूक भी किया। स्क्रीनिंग और टेस्टिंग में कॉलोनी के रहवासियों ने आगे आकर संघ के कार्यकर्ताओं का सहयोग किया।

आकृति ग्रीन में स्क्रीनिंग एवं टेस्टिंग के दौरान संघ के स्थानीय कार्यकर्ता आशीष वाजपेयी, मनीष झोलकर, दीपक जौहरी, हरीश शर्मा, शैलेन्द्र चौधरी एवं जितेन्द्र पटेल सहित अन्य उपस्थित रहे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भोपाल विभाग के संघचालक डॉ. राजेश सेठी ने बताया कि इस समय देश कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है। ऐसी परिस्थिति में समाज को अपना उत्तरदायित्व निभाना चाहिए।

हमने अपने स्वयंसेवकों को स्क्रीनिंग एवं टेस्टिंग का प्रशिक्षण दिलाया है। स्क्रीनिंग और टेस्टिंग के बाद लोगों को सलाह दी जा रही है कि उन्हें घर पर ही एकांत में रहना है या समाज द्वारा संचालित किसी क्वॉरेंटाइन सेंटर में या फिर उन्हें अस्पताल जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने बताया कि संघ के स्वयंसेवक अभी उन क्षेत्रों में स्क्रीनिंग और टेस्टिंग का काम करेंगे, जहां संक्रमण अधिक नहीं फैला है। यह इसलिए ताकि वहां संक्रमितों की पहचान करके, कोरोना संक्रमण को और अधिक फैलने से रोका जा सके।

डॉ. सेठी ने बताया कि

भोपाल में रविवार को आकृति ग्रीन में हमीदिया अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. माधव बंसल एवं उनकी टीम के सहयोग से स्क्रीनिंग व टेस्टिंग की गई है। उन्होंने संघ के स्वयंसेवकों को ऑक्सीजन और पल्स की रीडिंग लेने के साथ ही रैपिड टेस्ट के लिए सैम्पलिंग का प्रशिक्षण भी दिया।

इस दौरान भोपाल विभाग के सह-बौद्धिक प्रमुख नीरज पांडय ने बताया कि भोपाल में संघ की ओर से अनेक प्रकार के सेवा एवं सहायता कार्यों का संचालन किया जा रहा है, जिनमें क्वॉरेंटाइन सेंटर, आइसोलेशन सेंटर, हेल्पलाइन सेंटर, प्लाज्मा एवं रक्त दान और भोजन वितरण के कार्य शामिल हैं।

संघ के स्वयंसेवक प्रशासन को भी सहयोग कर रहे हैं। अस्पतालों में भी मरीजों एवं उनके परिजनों को विभिन्न प्रकार की सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।



Related