कांग्रेस मुझे मारना चाहती है … साध्वी प्रज्ञा ठाकुर


प्रज्ञा ठाकुर ने कोर्ट को बताया कि वह 17 दिसंबर तक राजनीतिक बैठकों में व्यस्त रहीं और इसके बादमें भर्ती होना पड़ा और वे कोर्ट नहीं आ सकीं। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि उन्हें कई परेशानियां है जो कांग्रेस की ही देन है।


देश गांव
घर की बात Published On :

भोपाल। मालेगांव बम धमाकों में आरोपी भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर सोमवार को एनआईए की स्पेशल कोर्ट में पेश हुई। हालांकि इस बार भी उनकी सुनवाई नहीं हो सकी क्योंकि दूसरा पक्ष  गवाहों के क्रॉस एग्जामिन के लिए दूसरे पक्ष के जिरह करने वाले वकील किसी निजी कारण से अनुपस्थित रहे।  कोर्ट ने मामले की सुनवाई मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी। इस मामले में आज फिर सुनवाई हो रही है।

कोर्ट से बाहर निकल आते समय साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने आरोप लगाया कि उनकी प्रताड़ना के पीछे कांग्रेस जिम्मेदार है और कांग्रेस ने मारना चाहती हैं लेकिन भी हर बार बच जाती हैं और कोर्ट में पेश हो जाती है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि वे एक सच्चे देशभक्त हैं और उन्हें अपने संविधान पर पूरा यकीन है।

प्रज्ञा ठाकुर पिछली दो सुनवाई में मौजूद नहीं रही थी जिसके बाद कोर्ट ने नाराजगी जताई थी और चार जनवरी को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा था। हालांकि पिछली सुनवाई के समय वे बीमार थी और दिल्ली में एम्स में भर्ती थी। प्रज्ञा ठाकुर ने कोर्ट को बताया कि वह 17 दिसंबर तक राजनीतिक बैठकों में व्यस्त रहीं और इसके बादमें भर्ती होना पड़ा और वे कोर्ट नहीं आ सकीं। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि उन्हें कई परेशानियां है जो कांग्रेस की ही देन है।

महाराष्ट्र के मालेगांव कस्बे में 29 सितंबर, 2008 को एक मस्जिद के पास एक मोटरसाइकिल पर बंधे विस्फोटक से हुए विस्फोट में छह लोग मारे गये थे और 100 लोग घायल हुए थे। लोकसभा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर मामले की मुख्य आरोपी हैं। उनके साथ लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित मेजर रिटायर रमेश उपाध्याय, प्रज्ञा ठाकुर सहित चार अन्य आरोपी शामिल है। सोमवार को पेशी के दौरान अजय रहर कर और सुधाकर द्विवेदी कोर्ट में पेश नहीं हो सके थे।



Related