इंदौर दौरे के दौरान मज़दूर के घर भोजन करने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज


इसके बाद मुख्यमंत्री अचानक एक मज़दूर परिवार के घर पहुंचे। यहां उन्होंने परिवार के साथ भोजन किया। यहां  राधा बाई ने उनके लिए भोजन बनाया। मुख्यमंत्री के साथ कई खाना बनाया। राधा बाई के पति मजदूरी करते हैं और ये परिवार एक कच्चे मकान में रहता है।  


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बुधवार को इंदौर में रहे। यहां उन्होंने शहर को कई सौगातें दीं। उन्होंने इंटरनेशनल कार्गो, पीपल्याहाना फ्लायओवर, इन्यूबेशन सेंटर, स्ट्रीट वेंडर लोन और पांच एसटीपी प्लांट का उद्घाटन किया। इस दौरे में मुख्यमंत्री शिवराज का वह अंदाज़ दिखाई दिया जो उन्हें आम जनों से सीधा जोड़े रखता है। मुख्यमंत्री ने बार-बार अपने पिछले दिनों दिये गए बयानों को भी दोहराया।

इसके बाद मुख्यमंत्री अचानक एक मज़दूर परिवार के घर पहुंचे। यहां उन्होंने परिवार के साथ भोजन किया। यहां  राधा बाई ने उनके लिए भोजन बनाया। मुख्यमंत्री के साथ कई खाना बनाया। राधा बाई के पति मजदूरी करते हैं और ये परिवार एक कच्चे मकान में रहता है।

राधा बाई और उनकी बेटी ने मुख्यमंत्री के लिए खाना बनाया। यहां मुख्यमंत्री ने उनसे परिवार के बारे में पूछा। जिस पर राधा बाई ने उन्हें बताया कि उनका एक बेटा और दो बेटियां हैं। बेटी को पथरी की परेशानी है। इस पर मुख्यमंत्री चौहान ने वहां खड़े कलेक्टर मनीष सिंह से बेटी का इलाज करवाने के लिए कहा और इसके बाद आवास योजना के तहत परिवार को नया घर देने को भी कहा गया। राधा बाई का परिवार टिन शेड के कच्चे  मकान में रहता है।

राधाबाई ने मुख्यमंत्री के लिए कई तरह का भोजन बनाया। इस पर मुख्यमंत्री चाव से भोजन करते नजर आए। उन्होंने कहा कि भोजन से आत्मा तृप्त हो गई। इस दौरान उनके साथ सांसद शंकर लालवानी,  गौरव रणदीवे, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता जैसे भाजपा नेताओं ने भी भोजन किया।

मुख्यमंत्री ने इंदौर दौरे में धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक. पत्थरबाजों के खिलाफ कानून जैसे अपने पुराने बयान दोहराए। उन्होंने कहा कि जनता मेरी भगवान है, बड़े माफिया, दादा, गुंडा बदमाश जनता की जिंदगी में जहर घोलने वालों को मध्यप्रदेश की धरती पर नहीं रहने दूंगा। हम आपकी सेवा के लिए हैं। आपका विश्वास मैं कभी टूटने नहीं दूंगा