इंदौरः क्राईम ब्रांच ने पकड़ी सत्तर करोड़ की ड्रग्स, कई शहरों और देशों से जुड़ेंगे तार


पुलिस ने अपने ऑपरेशन प्रहार के तहत  यह कार्रवाई की है। आईजी दीक्षित ने बताया कि यह ड्रग हैदाराबाद से सप्लाई होती है। पुलिस ने इस कार्रवाई में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।


देश गांव
इन्दौर Published On :

इंदौर। क्राइम ब्रांच की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब सत्तर करोड़ की ड्रग्स पकड़ी है। पुलिस ने ऑपरेशन प्रहार के तहत 70 किलो एमडीएमए पकड़ी है। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक यह पहली बार है जब इतने बड़े पैमाने पर ड्रग तस्कर पकड़े गए है। इंदौर आईजी योगेश दीक्षित ने मंगलवार शाम प्रेस वार्ता में इसकी जानकारी दी।

पुलिस ने अपने ऑपरेशन प्रहार के तहत  यह कार्रवाई की है। आईजी दीक्षित ने बताया कि यह ड्रग हैदाराबाद से सप्लाई होती है। पुलिस ने इस कार्रवाई में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है और दो गाड़ियां जब्त की हैं। ये तस्कर ब्राउन शुगर, गांजा जैसे ड्रग्स की सप्लाई करते थे। पुलिस को आशंका है कि इस कारोबार में कई दूसरे शहरों और देशों तक ड्रग की सप्लाई की जाती थी।

पुलिस ने बताया कि तस्कर इस ड्रग को  साउथ अफ्रीका भेजने की तैयारी थी। जब आरोपी ड्रग की इस खेप को हैंडलर्स को सप्लाई कर रहे थे और इसी दौरान पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। गिरफ्तार किए गए लोगों में वेदप्रकाश नाम का आरोपी फार्मा कंपनी का कर्मचारी है।

पकड़े गए आरोपियों में दो तेलंगना के रहने वाले हैं। इनमें वेदप्रकाश पिता बिहारी लाल व्यास, मांगी बैंकटेश पिता मांगी आइलहिया,  दिनेश पिता नारायण लाल निवासी इंदौर,  अक्षय उर्फ चीकू पिता दिनेश अग्रवाल निवासी लसूड़िया इंदौर, चिमन पिता मदनलाल अग्रवाल,  निवासी मंदसौर हैं।  इससे पहले इंदौर पुलिस शहर में एक महिला को पकड़ा था। इस महिला को आंटी उर्फ प्रीति जैन के नाम से जाना जाता है। इस महिला के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने कई कार्रवाई की। जिनमें इंदौर शहर में ड्रग्स की तस्करी का मामला खुला।