राधास्वामी आश्रम में बन रहा प्रदेश का सबसे बड़ा व सर्वसुविधायुक्त कोविड केयर सेंटर


कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश का पहला कोविड केयर सेंटर इंदौर में 1000 बेड का तैयार किया जा रहा है। इंदौर के प्रसिद्ध चोईथराम हॉस्पिटल, बॉम्बे हॉस्पिटल, मेदांता हॉस्पिटल, राजश्री अपोलो हॉस्पिटल के डॉक्टरों की पूरी टीम यहां चिकित्सा सुविधा प्रदान करेगी।


DeshGaon
इन्दौर Published On :
radhaswami-ashram-covid-care-center

इंदौर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुये मामलों को दृष्टिगत रखते हुये मरीजों के लिये पर्याप्त बेड व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से इंदौर में खंडवा रोड स्थित राधास्वामी सत्संग परिसर में देश का दूसरा तथा प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है।

इसका निर्माण कार्य तेजी से जारी है। शीघ्र ही इसे प्रारंभ किया जायेगा। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने निर्माणाधीन कोविड केयर सेंटर पहुंचकर तैयारियों का निरीक्षण किया।

कोविड केयर सेंटर की विशेषताएं –

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश का पहला कोविड केयर सेंटर इंदौर में 1000 बेड का तैयार किया जा रहा है। इंदौर के प्रसिद्ध चोईथराम हॉस्पिटल, बॉम्बे हॉस्पिटल, मेदांता हॉस्पिटल, राजश्री अपोलो हॉस्पिटल के डॉक्टरों की पूरी टीम यहां चिकित्सा सुविधा प्रदान करेगी।

आवश्यकता होने पर एम्स एवं आयुष के डॉक्टरों की सेवाऐं भी प्राप्त की जायेगी। पांच सौ मरीजों पर 250 का स्वास्थ्य स्टाफ मौजूद रहेगा। यहां पर 24 घंटे ऑक्सीजन की व्यवस्था रहेगी। जरूरत पड़ने पर यहां मरीजों को रेमेडीसिविर इंजेक्शन भी लगाये जा सकेंगे।

इस सेंटर में 24 घंटे बिजली, पानी, भोजन, नाश्ता, निःशुल्क दवाइयों के साथ ही वरिष्ठ चिकित्सकों आदि की व्यवस्थाएं रहेंगी। यह कोविड केयर सेंटर पंखे, कूलर सहित पूर्णतः वातानुकुलित रहेगा।

इंदौर में कोरोना मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा हेतु यह कोविड केयर सेंटर तैयार किया जा रहा है। आवश्यकता पड़ने पर भविष्य में दो हजार से ज्यादा बिस्तरों की व्यवस्था की जायेगी। जिन मरीजों के घर में अलग जगह नहीं है उन्हें भी यहां रखा जायेगा। कम लक्षण वाले संक्रमित मरीजों का इलाज किया जाएगा।

मंत्री सिलावट ने डेरा प्रमुख के प्रति आभार जताया – 

प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कोविड केयर सेंटर निर्माण की सहमति देने के लिये राधास्वामी सत्संग के डेरा प्रमुख के प्रति मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से आभार व्यक्त किया। मंत्री तुलसी सिलावट गुरुवार को एक बार फिर से खंडवा रोड स्थित राधास्वामी डेरे पहुंचे थे।

इस अवसर पर कलेक्टर मनीष सिंह तथा इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विवेक श्रोत्रिय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। मंत्री सिलावट ने खंडवा रोड स्थित डेरे में बन रहे कोविड केयर सेंटर की तैयारियों का अवलोकन किया।

उन्होंने निर्देश दिये कि इसका निर्माण शीघ्र पूरा किया जाये। इस अवसर पर बताया गया कि आवश्यकता पड़ने पर इस सेंटर की क्षमता दस हज़ार बिस्तरों तक की जा सकेगी। यहां पर युद्ध स्तर पर कार्य चालू है और जल्द ही यह सेंटर प्रारंभ हो जाएगा।

मंत्री सिलावट ने कहा कि मानवता की सेवा के लिये राधास्वामी सत्संग व्यास का बड़ा योगदान है। उन्होंने इसके लिये सत्संग के प्रमुख का आभार जताया। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश का अपने तरह का अनूठा और सबसे बड़ा सेंटर होगा।

भोजन की व्यवस्था राधास्वामी सत्संग द्वारा की जाएगी – 

कोविड केयर सेंटर में रहने वाले मरीजों के लिये भोजन की व्यवस्था राधास्वामी सत्संग द्वारा की जाएगी। शुरूआती तौर पर यहां 500 बेड की क्षमता के साथ सेंटर शुरू किया जायेगा। तत्पश्चात आवश्यकतानुसार इसका विस्तार किया जा सकेगा।

संक्रमित मरीजों की देखभाल के लिये यहां मेडिकल स्टॉफ भी नियुक्त किया जायेगा। कोविड केयर सेंटर में बिना लक्षण वाले मरीजों का उपचार किया जायेगा।

ज्ञात रहे कि यह सेंटर जल संसाधन मंत्री सिलावट द्वारा की गई पहल से शुरू किया जा रहा है। इसके लिये उनके द्वारा राधास्वामी सत्संग के प्रबंधन से चर्चा की गई और डेरा प्रमुख से सहमति प्राप्त की गई।

विगत दिनों भी जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर एवं कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा उक्त परिसर का निरीक्षण किया गया था तथा कोविड केयर सेंटर के निर्माण कार्य को अधिक तेजी से सम्पन्न कराने के निर्देश भी दिये गये थे।

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष कोविड महामारी के दौरान राधास्वामी सत्संग परिसर में देश के विभिन्न राज्यों के प्रवासी मजदूरों की भोजन, स्वास्थ्य, ठहरने आदि की सुलभ व्यवस्था की गयी थी।



Related






ताज़ा खबरें