मध्य भारत का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर शुरू, कोरोना मरीज़ों को यहां मिलेंगी तमाम सुविधाएं


– मध्य भारत क्षेत्र के सबसे बड़ा और देश का दूसरा बड़ा कोविड केयर सेंटर, जहां एक साथ छह हज़ार मरीज़ रह सकेंगे। संगीत, धार्मिक कार्यक्रम के अलावा और भी कई सुविधाएं होंगी यहां…


देश गांव
इन्दौर Updated On :

इंदौर। कोरोना संक्रमितों के लिए खंडवा रोड़ स्थित राधा स्वामी सत्संग व्यास परिसर में कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार है।  गुरुवार को इसका ट्रायल रन किया गया। इस दौरान यहां प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट और कलेक्टर मनीष सिंह मौजूद रहे।

इस सेंटर में करीब छह हजार पलंग की सुविधा है इसके अलावा मरीज़ों के लिए तमाम दूसरे इंतज़ाम भी किये गए हैं। यह कोविड केयर सेंटर देश का दूसरा तो मध्य भारत का पहला कोविड केयर सेंटर होगा। इसके पहले बेंगलुरू इंटरनेशनल एग्जीबिशन सेंटर में देश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर बनाया गया था, जहां 10,100 पलंग की सुविधा थी।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि सीएम के निर्देश पर निर्मित किये गए कोविड केयर सेंटर में 6 हजार पलंग की सुविधा उपलब्ध करवाने का प्लान है। जिसके पहले फेज में 2 हजार बेड को तैयार किया जा रहा है जिनमें से 600 पलंग तैयार हो गए है और टीम भी तैयार हो गई इसलिए 600 पलंग से कोविड केयर सेंटर शुरू किया जा रहा है।

इस सेंटर में हल्के या बिना लक्षण के मरीज ही रहेंगे। कलेक्टर ने बताया कि ऐसे मरीज जिनके घरों में जगह नहीं है या जो उम्रदराज़ हैं उन्हें यहां लाया जाएगा।  उन्होंने कहा कि एक दो दिन में हाउस कीपिंग, नर्सिंग स्टाफ, डॉक्टर्स और फूड एजेंसी भी यहां होंगी।

 

इस कोविड केयर सेंटर को चार सेक्टर में बांटा गया है जिसमें इंदौर मेदांता हॉस्पिटल, बॉम्बे हॉस्पिटल, चोइथराम हॉस्पिटल एवं अपोलो हॉस्पिटल द्वारा अलग-अलग भागों में सुपरविजन किया जाएगा।

वहीं उन्होंने बताया कि यहां वॉक इन पेशेंट का कंसेप्ट नहीं रहेगा और यहां चिह्नित एम्बुलेंस को ही प्रवेश दिया जाएगा ताकि जो मरीज़ घरों में रहकर सीरियस निकलते हैं उन तरह के मरीजों को हम शुरू में ही ठीक करने का प्रयास करेंगे।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि कोविड केयर सेंटर में मरीजों के मेंटल हेल्थ का ध्यान रखा जायेगा और सुबह यहां प्राणायाम और योग भी कराया जाएगा जिसके लिये ग्राउंड में स्टेज बना दिया गया है। वहीं सेंटर में लाइट म्यूजिक चलेगा, टीवी स्क्रीन लगी है जिसमें रामायण और महाभारत जैसे धार्मिक धारावाहिक भी दिखाए जाएंगे ताकि लोग मेंटल लेवल पर खुद को स्वस्थ महसूस करें।

मंत्री तुलसी सिलावट ने इंदौर में कहा कि शहर में जो जनता कर्फ्यू लगा है उसका सभी पालन करें क्योंकि ये संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए लगाया गया है। उन्होंने कोरोना को बड़ा संकट बताते हुए जनता से अपील की है लोग अपने घरों पर रहें। मंत्री सिलावट ने बताया कि इंदौर में 6 लाख 76 हजार वैक्सीन लग चुकी हैं और 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगो को वैक्सीन दी जाएगी।