इंदौर, राऊ और महू में 19 अप्रैल तक लॉकडाउन, जानिए क्या-क्या मिली रियायत


इंदौर कलेक्टर ने कहा कि लॉकडाउन काे आगे बढ़ाया जा रहा है। इस दौरान अनिवार्य सेवा, राशन दुकान, दवा दुकान, पेट्रोल पंप, एटीएम, बैंक, दूध व फल व सब्जी की दुकानें सुबह 9 बजे तक चालू रह सकती हैं।


देश गांव
इन्दौर Published On :
lockdown-indore-mhow-rau

इंदौर। बढ़ते कोरोना संक्रमण की श्रृंखला तोड़ने के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की सलाह पर सरकार ने इंदौर में 60 घंटे के लॉकडाउन को 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया। इंदौर शहर के अलावा राऊ, महू में भी 19 अप्रैल सुबह 6 तक लॉकडाउन रहेगा।

बता दें कि शुक्रवार को फिर इंदौर में 912 नए संक्रमित मिले हैं। लॉकडाउन के पहले दिन आज सख्ती नजर आई,  लेकिन रणजीत हनुमान मंदिर के बाहर दर्शन करने लोग आज भी पहुंचे।

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार दोपहर क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में सदस्यों से बात की थी। सभी सदस्यों ने लॉकडाउन को बढ़ाने का सुझाव दिया था। इंदौर कलेक्टर ने भी इस बात की पुष्टि की है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने स्पष्ट किया कि इसके लिए जो भी गाइडलाइन रहेगी, वह जल्दी जारी कर दी जाएगी। सब्जी, दूध और राशन के लिए कुछ रियायत दी जाएगी। लेकिन, मेडिकल की दुकानें लॉकडाउन से प्रभावित नहीं होंगी।

इससे पहले पूर्व सांसद कृष्णमुरारी मोघे ने कहा कि मुख्यमंत्री से बात की है। श्रृंखला तोड़ने के लिए 19 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव हमने ही दिया था। यह आग्रह भी किया कि सुबह 7 बजे से 10 बजे तक सब्जी दूध, राशन दुकानें, मेडिकल शॉप खुली रहें।

चार से पांच दिन तक लॉकडाउन को और आगे बढ़ाया जाए। इस पर सभी की सहमति है, क्योंकि यह शहर हित में है। ऑक्सीजन की कमी को लेकर कहा है कि सप्लाई में किसी प्रकार से कमी नहीं रहेगी। ऑक्सीजन की सप्लाई लगातार जारी रहेगी।

इंदौर कलेक्टर ने कहा कि लॉकडाउन काे आगे बढ़ाया जा रहा है। इस दौरान अनिवार्य सेवा, राशन दुकान, दवा दुकान, पेट्रोल पंप, एटीएम, बैंक, दूध व फल व सब्जी की दुकानें सुबह 9 बजे तक चालू रह सकती हैं। औद्योगिक गतिविधियों को पूरी छूट रहेगी, यहां से माल का और श्रमिक आदि का आना-जाना रहेगा। परीक्षाओं और टीकाकरण के लिए आने-जाने में छूट रहेगी।

लॉकडाउन के पहले दिन शनिवार को दोपहर 2 बजे पुलिस ने मैदान संभाला। इसके पहले तक सड़कों पर आवागमन लगभग सामान्य रहा। युवक बाइकों पर बेवजह घूमते दिखाई दिए। दो बजे पुलिस ने प्रमुख चौराहों पर बैरिकेड लगाकर पूछताछ शुरू की।

इस दौरान बेवजह घूमने वालों को वापस लौटा दिया। कुछ वाहन चालकों पर सख्ती भी की। कई जगह लोगों से उठक-बैठक लगवाई तो कई जगह गाड़ियों की हवा निकाली।

धार रोड स्थित चंदन नगर चौराहे पर पुलिस ने बैरिकेड लगाकर लोगों से पूछताछ की। पुलिस को देखकर कई वाहन चालक दूर से ही गाड़ियां पलटा कर चले गए। कुछ लोगों से उचित कारण नहीं होने के कारण पुलिस ने उलटे पैर लौट जाने का कहा। इधर, लाबरिया भेरु चौराहे पर भी पुलिस मुस्तैद दिखी।

जहां शहर के बाहरी क्षेत्रों में पुलिस की सख्ती दिखाई दी, वहीं मध्य क्षेत्र में पुलिस सुस्त रही। यहां कई चौराहों पर पुलिस जवान और अधिकारी छांव में टाइम पास करते रहे। कई जगह तो पुलिसकर्मी मोबाइल पर गेम खेल रहे थे।

रिंग रोड के चौराहों पर भी कहीं सख्ती नजर नहीं आई। लॉकडाउन के दौरान टाइम पास करना भी लोगों के लिए एक बड़ी समस्या है। इस दौरान लोग खासकर युवा वर्ग गली-मोहल्लों में दिनभर क्रिकेट खेलते दिखाई दिए।

इधर, चंदन नगर, जवाहर मार्ग का मध्य क्षेत्र, बंबई बाजार, जिंसी सहित कई क्षेत्रों में लोग बिना मास्क लगाए ही घूमते दिखाई दिए। इन्हें समझाइश देने के लिए चौराहों पर तैनात नगर निगम की गाड़ी लोगों को मास्क लगाने की समझाइश और घोषणा करती रही।